Latest News

वैगनआर कार की टक्कर से बाइक सवार दंपति की मौत

नेशनल हाइवे पर महुआ गांव में गुरुवार रात हुआ दर्दनाक हादसा 
पुलिस ने कार को मौके से कब्जे में लिया, बाद में चालक गिरफ्तार 
माता-पिता की मौत के बाद तीन बेटियों और एक बेटे का बुरा हाल 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । गुरुवार की देर रात अतर्रा कस्बे में तिलक समारोह में शामिल होने के बाद बाइक में सवार होकर अपने घर लौट रहे दंपति को महुआ गांव के पास तेज रफ्तार वैगनआर कार ने टक्कर मार दी, जिससे मौके पर ही दंपति की मौत हो गई। भतीजे की मदद से दंपति को अस्पताल लाया गया, वहां पर चिकित्सकों ने दोनो को मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर मिलते ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। कार को मौके से पुलिस ने कब्जे में लिया जबकि चालक को बाद में गिरफ्तार किया। 
पंचनामा की कार्रवाई पूरी करता पुलिस कर्मी 
चिल्ला रोड स्थित सर्वोदय नगर मोहल्ला निवासी राधेश्याम गुप्ता (45) पुत्र जियालाल गुप्ता अपनी पत्नी राजकुमारी (42) के साथ अतर्रा कस्बा निवासी अपने भांजे आशीष गुप्ता के तिलक समारोह में शामिल होने के बाद गुरुवार को देर रात बाइक पर अपने घर लौट रहे थे। झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित गिरवां थाना क्षेत्र के महुआ ब्लाक कार्यालय के नजदीक सामने से आ रही तेज रफ्तार कार ने बाइक को टक्कर मार दी। बाइक सवार दंपत्ति गंभीर रूप से घायल हो गए। कुछ देर तड़पने के बाद बाइक सवार दंपत्ति ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। दुर्घटना के बाद नेशनल हाइवे पर भारी जाम लग गया। दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। दो घंटे बाद कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस कर्मियों ने जाम खत्म कराया। मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा भरने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दुर्घटना के बाद भाग रहे चालक को पुलिस ने कार समेत गिरफ्तार कर लिया। घटना की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक के भतीजे रोहित ने बताया कि राधेश्याम गुप्ता घर में ही किराने की दुकान का व्यापार करते थे। 
इनसेट 
बेटी के हाथ पीले करने से पहले दुनिया से जुदा हुए माता-पिता 
बांदा। किसी को क्या पता था कि लाडली बेटी की डोली उठने से पहले ही माता-पिता की अर्थी उठ जाएगी। माता-पिता की एक साथ अर्थी निकली तो यह मातमी मंजर देख परिवार व रिश्तेदार ही नहीं पड़ोसियों की भी आंखें नम हो गईं। शहरो कोतवाली क्षेत्र के सर्वोदय नगर निवासी राधेश्याम गुप्ता की बड़ी पुत्री पूजा की 25 अप्रैल 
मच्र्युरी हाउस में मौजूद परिजन
को बारात आने वाली थी घर पर शादी की तैयारियों जोरशोर से चल रही थीं। पिता राधेश्याम और मां राजकुमारी की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत होने की खबर आई तो परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई। खुशी का माहौल गम में बदल गया। सभी दहाड़े मारकर रोने लगे। घर वालों और रिश्तेदारों को क्या पता था कि हाथ पीले करने से पहले ही दुनिया से माता-पिता चल बसेंगे। मृतक अपने पीछे तीन पुत्रियां तथा पुत्र छोड़ गए। घटना से पूरे मोहल्ले में मातम पसरा हुआ है। सारी खुशहाली गम के माहौल में बदल गई। बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल है। बेटी पूजा बार-बार रोते हुए कह रही थी कि अब उसकी डोली कौन विदा करेगा। उसे खुश रहने का आशीर्वाद कौन देगा। माता-पिता के जाने का गम उसको इतना सता रहा था कि वह बार-बार रोते हुए बेहोश हो जा रही थी।

बच्चों के सिर से उठा माता-पिता का साया
बांदा। मृतक राधेश्याम गुप्ता व राजकुमारी अपने पीछे तीन पुत्रियां व एक पुत्र छोड़ गए। मृतक की बड़ी पुत्री
मच्र्युरी हाउस में मौजूद महिलाएं
पूजा ही सिर्फ बालिग है। जबकि रेनू और अलका तथा पुत्र नाबालिग हैं। घर में हुई हृदय विदारक घटना से पुत्रियों व पुत्र बेहाल रहे। घर पर रिश्तेदारों और पड़ोसी महिलाओं- पुरुषों का जमावड़ा लगा था। एक साथ पति-पत्नी की इस तरह हुई मौत से मोहल्ले में मातम छाया है। घटना को लेकर परिजनों में कोहराम मचा है। 


No comments