Latest News

ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, आधा दर्जन गिरफ्तार

लखनऊ बाईपास पर कई वर्षों से संचालित थी फर्जी कम्पनी 
युवाओं को नौकरी दिलाने के नाम धोखाधड़ी कर बना लेते थे बंधक 

फतेहपुर, शमशाद खान । शहर के लखनऊ बाईपास पर कई वर्षों से संचालित एक फर्जी कम्पनी का सदर कोतवाली पुलिस ने पर्दाफाश करके आधा दर्जन ठगों को गिरफ्तार कर लिया। यह ठग फर्जी कम्पनी के नाम पर युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा देकर बंधक बना लेते थे। पुलिस ने ठगों के पास से कुछ नकदी व मोबाइल भी बरामद किये हैं। सभी के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। 
गुरूवार को सदर कोतवाली परिसर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रभारी निरीक्षक रवीन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत सूचना मिली कि कुछ लोग लखनऊ
पत्रकारों से बातचीत करते शहर कोतवाल रवीन्द्र श्रीवास्तव व पीछे खड़े ठग।  
बाईपास पर ग्लेज ट्रेडिंग इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा नवयुवकों को नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करे बंधक बनाकर रखते हैं। पैसे लेकर झांसा देते हुए उद्यापन करते हैं। इस सम्बन्ध में थाना कोतवाली में राजनाथ पुत्र बलिकरण निवासी हाथीपुर मो0 महगूपुर धाहर आजमगढ़, शुभम पाण्डेय पुत्र राजकुमार पाण्डेय निवासी ठकुराइन पो0 मलावां छजईपुर कुण्डा जनपद प्रतापगढ़ द्वारा मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। जिस पर कोतवाली पुलिस टीम मौके पर पहुंची और ग्लेज ट्रेडिंग इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड लखनऊ बाईपास के आफिस के सामने से आधा दर्जन ठगों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गये ठगों ने अपने नाम अखलाक पुत्र इरशाद निवासी ग्राम रजबारा थाना तरैंया जनपद सारन बिहार, अमित वर्मा पुत्र शीतला प्रसाद निवासी रामपुर बिरतिहा थाना मोतिगरपुर जनपद सुल्तानपुर, रविकांत तिवारी पुत्र सिंहासन तिवारी निवासी ग्राम टीकमपुर थाना भाटापार रानी जनपद देवरिया, सोनू पटेल पुत्र इन्द्रासन पटेल निवासी सौवरेजी थाना खामपार जनपद देवरिया, चंदन सिंह पुत्र राजाराम निवासी पौनी थाना केराकस जनपद जौनपुर व अंकित पुत्र लाखन सिंह निवासी किलामेट थाना महाराजपुरा जनपद ग्वालियर मध्य प्रदेश बताये। ठगों के पास से पुलिस ने 5200 रूपये नकद व पांच अदद मोबाइल भी बरामद किये हैं। पुलिस ने पकड़े गये अभियुक्तों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया। शहर कोतवाल ने बताया कि यह लोग काफी समय से लखनऊ बाईपास पर फर्जी कम्पनी का संचालन करके युवाओं को नौकरी दिलाने के नाम पर झांसा देकर बंधक बनाकर रखते थे। इसकी सूचना मिलने पर ही पुलिस ने कार्रवाई की है। गिरफ्तारी करने वाली टीम में उनके अलावा बाकरगंज चैकी प्रभारी अनिरूद्ध कुमार द्विवेदी, कोतवाली के उपनिरीक्षक विपिन कुमार सिंह, कांस्टेबिल विवेक कुमार, अशोक कुमार सरोज, महिला कांस्टेबिल कविता पौनिया, पूजा भारती शामिल रहीं। 

No comments