Latest News

अन्ना पशुओं के संरक्षण संवर्धन में न बरते कोताही - डीएम

उत्कृष्ठ कार्यो के लिए अधिकारियों को किया सम्मानित 

हमीरपुर, महेश अवस्थी । अन्ना गोवंश के संरक्षण संवर्धन व प्रबन्धन के बारे मे कलाम सभागार में जिलाधिकारी डा. ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने निर्देश दिये कि चारा पानी, भूसा की व्यवस्थायें सुनिश्चित कर ली जाये। जिसकी खरीद नियमानुसार हो समय से उपयोग प्रमाणपत्र उपलब्ध कराकर धनराशि की डिमांड कर ली जाये। अन्ना बेसहारा पशु आश्रय स्थल के संचालन में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। जन सहभागिता से गोवंशीय पशुओं की सुपुर्दगी दी जाये। यहां लग चैकीदार और लेवर का नियमानुसार समय से भुगतान किया जाये। इतना ही नही
जिला उद्यान अधिकारी को सम्मानित करते जिलाधिकारी
पशु आश्रय स्थल के समीप चारागाह को चिन्हित कर चारा उगाने की कार्यवाही की जाये। अलग अलग कैटेगरी के पशुओ के लिए अलग अलग बाडे़ बनें। वृद्ध, बीमार पशुआ को अलग बाडा, छोअे बछडा बछडी का अलग बाडा और गर्भस्त गोवंश को अलग बाडे मे रखा जाये। व्यवस्थाओं के लिए उपयागिता प्रमाणपत्र देकर ही धनराशि मांगी जाये। डीएम ने कहा कि गेंहू कटिंग के सीजन में बिना रिपर वाली मशीन न चलने पाये अगर ऐसा होता है तो मशीन को सीज किया जाये, पराली जलाने की घटना भी नही होनी चाहिए, पशुओ के बन्ध्याकरण में तेजी लायी जाये। जिलाधिकारी ने उत्कृष्ठ कार्याे के लिए अधिकारियों को सम्मानित भी किया। विकास कार्याे की समीक्षा बैठक में अधिशाषी अभियन्ता और सहायक अभियन्ता लघु सिंचाई के गायब होने पर जिलाधिकारी ने दोनो का एक एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये है। 

No comments