Latest News

मेक इन इण्डिया का केन्द्र बनने जा रहा बुन्देलखण्ड: मोदी

एक्सप्रेस वे के निर्माण से पर्यटन व उद्योग को मिलेगा बढ़ावा
किसान सम्मान निधि योजना की वर्षगांठ पर देश के दस किसानों को बांटे केसीसी कार्ड

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे बुन्देलखण्ड क्षेत्र के जन जीवन को बदलने वाला है। इससे क्षेत्र का समग्र विकास होगा। जिससे युवाओं को रोजगार के विभिन्न अवसर प्राप्त होंगे। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह विचार जनपद के भरतकूप स्थित गोंडा गांव में बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास करने के उपरान्त विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस वे के निर्माण से इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तथा नई औद्योगिक इकाईयां स्थापित होंगी। जिससे लोगों को रोजगार के विभिन्न अवसर प्राप्त होंगे। कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र मेक इन इण्डिया का केन्द्र बनने जा रहा है। इस क्षेत्र के प्राकृतिक सौन्दर्य व आध्यामिक स्थल होने के कारण यह पर्यटन का भी हब बनेगा। उन्होंने कहा कि अब बुन्देलखण्ड केवल अपना ही नहीं अपितु पूरे देश का भाग्य बदलने का कार्य करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में डिफेंस कारीडोर की स्थापना करायी जा रही है। जिससे इस क्षेत्र में रक्षा उत्पादों से संबंधित विभिन्न उद्योग स्थापित होंगे तथा इस क्षेत्र में बनी हुई तोपें दुश्मन के सीने को छलनी करने का कार्य करेंगी।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 10 हजार किसान उत्पादक संघों की परियोजना का शुभारम्भ भी किया। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के माध्यम से किसान अपने उत्पादों की बिक्री उचित दाम पर कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों ने एफपीओ के माध्यम से विगत एक वर्ष में एक लाख करोड़ का व्यापार किया है। कहा कि आकांक्षी जिलों में प्रत्येक विकास खण्ड में कम से कम एक एफपीओ का गठन कराया जाये। उन्होंने कहा कि एफपीओ. को भारत सरकार द्वारा 15 लाख रूपये की सहायता प्रदान की जाती है। कहा कि यहां पर सफल एफपीओ की प्रदर्शनी भी लगायी गई है। जिसे लोग देखें और एफपीओ. बनायें।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश में पहली बार एक वर्ष में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के अंतर्गत 8.5 करोड़ किसानों को 50 हजार करोड़ रूपये की धनराशि प्रदान की गई है। जिसमें उत्तर प्रदेश के दो करोड़ किसान सम्मिलित हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाने तथा लागत घटाने के लिए भारत सरकार द्वारा कई कार्य किये गये हैं। किसानों की आय बढ़ाने के लिए 16 सूत्रीय कार्यक्रम लागू किया गया है। किसानों के उत्पादों को न केवल मण्डी स्थलों अपितु देश व विदेश तक पहुॅंचाने के लिए देश के 22 हजार हाटों में जरूरी आधारभूत सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना में किसानों को जुड़ने के लिए स्वैच्छिक कर दिया गया है क्योंकि अब किसान स्वेच्छा से फसल बीमा योजना से जुड़ रहे हैं। पीएम ने कहा कि फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों द्वारा 13 हजार करोड़ प्रीमियम की धनराशि प्रदान की गई थी तथा बीमा कम्पनियों द्वारा किसानों को क्षतिपूर्ति के रूप में 56 हजार करोड़ की धनराशि प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्राप्त करने वाले सभी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए विशेष अभियान चलाया गया है। जिसमें 47 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी किये गये हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत किसानों को चार प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है तथा अब किसानों को साहूकारों से ऋण नहीं लेना पड़ेगा। कहा कि चित्रकूट एक स्थान ही नहीं अपितु यह तपोस्थली है तथा यहां से भारत के समाज को नये आदर्श मिलते रहे हैं। यहां पर नाना जी देशमुख ने भारत को स्वावलम्बन पर ले जाने का प्रयास प्रारम्भ किया था। ग्रामोदय से राष्ट्रोदय की परिकल्पना को साकार करने का प्रयास किया था। उन्होंनेे कहा कि भारत सरकार द्वारा जल जीवन मिशन योजना प्रारम्भ की गई है। जिससे 15 करोड़ परिवारों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सकेगा तथा इस योजना का संचालन गांव के स्थानीय लोग ही करेंगे तथा इसमें महिलाएं महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करेंगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे तथा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण करा रही है। गंगा एक्सप्रेस वे के निर्माण के लिए भी कार्य योजना बनायी जा रही है। इन एक्सप्रेस-वे के निर्माण से उत्तर प्रदेश के विकास को गति मिलेगी। 

पीएम ने नौ राज्यों के दस किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान कर सम्मानित किया। इसके पूर्व एफपीओ तथा जिला प्रशासन के विभिन्न अभियानों, योजनाओं से संबंधित प्रदर्शनी देखी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भगवान राम के संकट के समय चित्रकूट सम्बल बना था तथा प्रधानमंत्री के प्रयास से अयोध्या में शीघ्र भव्य राम मंदिर बनेगा। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में हर घर में नल योजना प्रारम्भ होगी। सभी परिवारों को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 हजार करोड़ रूपये की लागत से बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा। एक्सप्रेस-वे के निर्माण से बुन्देलखण्ड की अर्थ व्यवस्था में महत्वपूर्ण परिवर्तन आयेगा तथा बुन्देलखण्ड विकास का माडल बनेगा। कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे क्षेत्र की तकदीर बदलने का कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि किसानों को आसानी से ऋण उपलब्ध कराने के लिए भारत सरकार द्वारा 15 लाख करोड़ रूपये की व्यवस्था की गई है तथा जो किसान समय पर ऋण वापस कर देंगे उन्हें मात्र चार प्रतिशत ही ब्याज देना पड़ेगा। कहा कि भारत सरकार ने कृषि व ग्रामीण विकास के लिए तीन लाख करोड़ बजट की व्यवस्था की है तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य भी बढ़ाने का भी कार्य किया गया है। औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे के निर्माण से इस क्षेत्र की अर्थ व्यवस्था में महत्वपूर्ण परिवर्तन आयेगा। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का 40 प्रतिशत से अधिक कार्य पूरा हो चुका है। 
राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष भाजपा स्वतंत्र देव सिंह, कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, कृषि राज्य मंत्री सूर्य प्रताप शाही, नागरिक उड्डयन, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नन्द गोपाल ’नन्दी, ’लोक निर्माण राज्य मंत्री चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय, अपर मुख्य सचिव, मुख्य कार्यकारी अधिकारी यूपीडा अवनीश कुमार अवस्थी, आयुक्त चित्रकूटधाम मण्डल गौरव दयाल, उप महानिरीक्षक पुलिस दीपक कुमार, जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल आदि जन प्रतिनिधियों ने पुष्प गुच्छ प्रदान कर प्रधानमंत्री का स्वागत किया। इस अवसर पर राज्य मंत्री कृषि एवं किसान कल्याण भारत सरकार पुरूषोत्तम रूपाला, राज्य मंत्री कृषि एवं किसान कल्याण भारत सरकार कैलाश चैधरी, राज्य मंत्री श्रम एवं सेवा योजन मनोहर लाल, सांसद बांदा-चित्रकूट आरके सिंह पटेल, सांसद हमीरपुर महोबा पुष्पेन्द्र सिंह चन्देल, विधायक मानिकपुर आनन्द शुक्ला, विधायक बांदा सदर प्रकाश चन्द्र द्विवेदी, विधायक बबेरू चन्द्रपाल कुशवाहा, विधायक नरैनी राजकरन कबीर, विधायक तिन्दवारी बृजेश कुमार प्रजापति, विधायक हमीरपुर कुॅंवर युवराज सिंह, विधायक राठ मनीषा अनुरागी, क्षेत्रीय अध्यक्ष भाजपा मानवेन्द्र सिंह, पूर्व सांसद रमेश चन्द्र द्विवेदी, भैरों प्रसाद मिश्रा, जिलाध्यक्ष चन्द्र प्रकाश खरे आदि नेे विचार व्यक्त किये। 

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे खासियत
चित्रकूट। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे की लम्बाई 296 किलो मीटर है। इसके निर्माण पर लगभग 15 हजार करोड़ की धनराशि व्यय होगी। एक्सप्रेस-वे चित्रकूट के भरतकूप स्थित गांेडा गांव से प्रारम्भ होकर बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया होते हुए इटावा में आगरा एक्सप्रेस वे जुड़ जायेगा। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे चार लेन का होगा। जिसे भविष्य में 6 लेन का किया जा सकेगा। चार रेलवे ओवर ब्रिज, 14 दीर्घ सेतु, 6 टोल प्लाजा, 7 रैम्प प्लाजा, 268 लघु सेतु, 18 फ्लाई ओवर तथा 214 अण्डर पास का निर्माण किया जायेगा। इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक दलों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये।

No comments