पंडित दीनदयाल उपाध्याय उद्यान का लिया जायजा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, February 11, 2020

पंडित दीनदयाल उपाध्याय उद्यान का लिया जायजा

पड़ाव चंदौली मोतीलाल गुप्ता। स्थानीय चौराहे के समीप    बन रहे पंडित दीनदयाल  उपाध्याय उद्यान व उनकी मूर्ति और  संग्रहालय प्रस्तावित के निर्माण कार्य का जायजा लेने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी ने किया निरीक्षण । ज्ञात हो कि आगामी 16 फरवरी को पंडित दिनदयाल उपाध्याय उद्यान व उसमे लगे पंडित जी की 63फिट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करने भारत के प्रधानमंत्री जी का आगमन होना है। पहले फेज का कार्य देख  करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी  अपनी खुशी जाहिर करते हुए  कहां की एकात्म मानववाद के प्रणेता अद्वितीय राजनीति के  अंत्योदय को प्रस्तुत करने वाले पुण्य स्थली 1968 मे हुए थे उसी स्थल को प्रेरणा स्थल बनाने के लिए पहले फेज का जो कार्य पूरा हुआ है देश के प्रधानमंत्री जी के सानिध्य प्राप्त हो । इसकी तैयारी का
जायजा लेने के लिए हम यहां आए हैं जबकि पंडित जी के नाम से  स्टेशन और इस क्षेत्र को दुनिया जानेगा  विकास प्राधिकरण का भी तारीफ करते हुए कहा कि समय से 1 फेज का कार्य पूरा कर लिया है । जबकि इससे पूर्व  मुख्यमंत्री आदित्यनाथ  हेलीकॉप्टर से   अवधूत भगवान राम समाधि स्थल के पास छावनी परिषद की भूमि सूजाबाद में  बने हैलीपैड पर लैंडिंग करने के बाद 4:00 बज कर  लगभग  50 मिनट पर  पहुंचे थे तत्पश्चात वे पंडित दीनदयाल उपाध्याय उद्यान पहुंचे इस दौरान  12 से 15 मिनट तक  उद्यान व मूर्ति का निरीक्षण किया  तत्पश्चात कुछ क्षणों के लिए  पत्रकार बंधुओं के सवालों का जवाब दिया उसके बाद हेलीपेड के  लिए रवाना हो गए गौरतलब हो कि आज़ादी सार्थक तभी हो सकती है जब वह हमारी संस्कृति की अभिव्यक्ति का साधन बन जाए।' यह वाक्य कहने वाले संघ प्रणेता पंडित दीन दयाल की याद में उनका स्मृति स्थल वाराणसी जनपद के पड़ाव चौराहे पर स्थित गन्ना विकास संस्थान की भूमि का अधिग्रहण कर बनाया जा रहा है। इसका 16 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकार्पण करेंगे  संघ प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फिट ऊंची अष्टधातु की  बनी प्रतिमा लोगों के आकर्षण का केंद्र बना है।
5 अगस्त 2018 को भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने चंदौली जनपद के मुग़लसराय स्टेशन को पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन किये जाने की घोषणा की थी। उसी दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुगलसराय रेलवे मैदान में उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते हुए पंडित दीन दयाल स्मृति स्थल की घोषणा करते हुए भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के हाथों शिलान्यास करवाया था। 
फेज़-1 का कार्य पूरा करने के लिए
इस स्मृति स्थल के लिए पड़ाव चौराहे पर स्थित गन्ना विकास संस्थान की 10 एकड़ ज़मीन अधिग्रहित कर उसपर इस स्मृति स्थल के निर्माण के लिए 74 करोड़ रुपये पास किये थे। इस स्मृति स्थल के प्रथम फेज़ के लिए 39 करोड़ का बजट कार्यदायी संस्थाओं को कुछ ही दिनों बाद ही शासन द्वारा मिल गया। उसके बाद साल 2019 के जुलाई माह से इस स्मृति स्थल में प्रथम फेज़ का काम शुरु हुआ। 
इस सम्बन्ध में बात करते हुए कार्यदायी संस्था चिन्मय कंस्ट्रक्शन के प्रोजेक्ट मैनेजर चेतन बहल ने बताया कि प्रथम फेज़ का कार्य यहां जून 2019 से हो रहा है, जिसमे हम सिविल वर्क और मूर्ती वर्क कर रहे हैं। इसके अलावा एम्फीथियेटर, कुंड, इंटेरप्रेनर वाल, पाथ वे, ग्रीनरी, एसटीपी और फिल्टरेशन का कार्य हो रहा है। इसमें हमारा सभी कार्य पूरा हो गया है। पाथ वे का काम चल रहा है वह भी खत्म हो जाएगा एक दो दिन में। 
देश की सबसे ऊँची दीन दयाल जी की प्रतिमा को बनाने में
 पिछले एक साल करीब 200 मज़दूर दिन रात मेहनत करके इसे पूरा करने में लगे हैं। इस स्मृति स्थल में पांच धातु की पंडित दीन दयाल उपाध्याय की 63 फुट ऊँची प्रतिमा देश की सबसे बड़ी दीन दयाल उपाध्याय की प्रतिमा है। इसका लोकार्पण प्रधानमंत्री आगामी 16 फरवरी को करेंगे। 

30 कारीगरों ने उकेरा है दीवार पर पंडित जी के सिद्धांत 
इसके अलावा इंटरप्रेनर वाल पर उड़ीसा के 30 कारीगर दिन रात मेहनत कर पंडित दीन दयाल उपाध्याय के जीवन को उकेरने में लगे हैं। कार्य कर रहे मजदूर पिछले 2 महीने से  इस दीवार को सजाने-संवारने में लगे हुए हैं। इस समय  काम ख़त्म होने को है दस कारीगर इसके लोकार्पण के पहले उकेरी गयी मूर्तियों और डिज़ाइन की फिनिशिंग का काम कर रहे हैं।

पड़ाव चंदौली मोतीलाल गुप्ता। जहा एक तरफ राज्य सरकार के वनविभाग द्वारा राज्य में भाजपा की योगी की सरकार बनाने के बाद चलाये गए गंगा हरीतिमा अभियान के अंतर्गत 2018 से गंगा सेवा एक व्यक्ति एक वृक्ष नैरा देकर गंगा नदी के किनारों के दोनों तरफ 200 मीटर के अंतर्गत वृक्ष लगाकर गंगा को स्वक्ष बनाने व वातावरण को सुद्ध करने का योजना बनाया है। व पूरी दुनिया में वातावरण को शुद्ध रखने के लिए बड़े पैमाने वैश्विक स्तर
पर वृक्षारोपण किया जा रहा है तथा लाखों करोड़ों की संख्या में जहां एक तरफ  खुद उत्तर प्रदेश राज्य सरकार योगी जी का एक परियोजना  हरीतिमा  वृक्ष गंगा परियोजना लेकिन वही उसका उलट उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य योगी नाथ जी का पड़ाव पर स्थित बन रहे पंडित दीनदयाल उद्यान  और  मूर्ति  का निरीक्षण के लिए आने की तैयारी में विशाल पीपल का हरा पेड़ काट दिया गया जो अवधूत भगवान समाधि स्थल  ग्राउंड के पास  विशाल पीपल का पेड़ हुआ करता था जिस पेड़ की क्षेत्र की महिलाएं पूजा भी करती थी यहां तक कि गर्मी के मौसम में उक्त ग्राउंड पर क्रीड़ा करने वाले बच्चों का छाया में बैठने का साधन था अब उसी को सुबे के मुखिया को कोई समस्या ना हो पेड़ काट दिया गया जिसका क्षेत्रवासियों ने  अपनी नाराजगी जाहिर किया है

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages