Latest News

मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला

घर के पास मिला इलाज, जाना सेहतमंद बनने का राज
9 शहरी स्वास्थ्य केंद्रों समेत कुल 62  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर हुई सेहत की मुफ्त जांच

बिजनौर (संजय सक्सेना) रविवारीय अवकाश का दिन इस बार जनपद के लिए सेहत की दृष्टि से बेहद खास रहा। दूर दराज के इलाकों व मलिन बस्तियों में रहने वाले करीब एक हजार से अधिक लोगों को इस दिन सेहत का वरदान मिला। मौका था मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले के आगाज का। इस पहले आरोग्य मेले में जिले के नौ शहरी स्वास्थ्य केंद्रों समेत कुल 62 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर निःशुल्क जांच व इलाज की सुविधा दी गई। मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का शुभारम्भ लखनऊ से आये संयुक्त निदेशक डा. रामजी वर्मा व सीएमओ डा. विजय कुमार यादव ने संयुक्त रूप से किया. ब्लॉक मोहम्मदपुर देवमल के गांव धर्मनगरी में सीएमओ डा. विजय कुमार यादव ने 8 लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड प्रदान किये. मेले में मौसमी बुखार की जांच के अलावा प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के साथ गर्भवती, बाल और किशोर स्वास्थ्य से जुड़ी जांच पर खास जोर रहा।

शहर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रविदासनगर व जाटान में मेले का निरीक्षण करते हुए संयुक्त निदेशक डा. रामजी वर्मा ने कहा कि इस आयोजन में स्वयंसेवी योगदान के लिए निजी क्षेत्र के चिकित्सकों को भी आगे आने चाहिए। प्रयास हो कि मेले में वह सभी सुविधाएं एक ही जगह पर लोगों को मिल जाएं जिसके लिए उन्हें बाकी दिनों में कामकाज छोड़कर अस्पतालों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विजय कुमार यादव ने बताया कि 53 ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, जबकि नौ शहरी स्वास्थ्य केंद्रों पर मार्च 2020 तक लगातार प्रत्येक रविवार को कुल 9 स्वास्थ्य मेले लगाए जाने हैं। मेले का आयोजन सुबह दस बजे से अपराह्न 2.00 बजे तक किया जाएगा।
इस अवसर पर मेले के नोडल अधिकारी डा. एस के निगम समेत जिला मलेरिया अधिकारी बृजभूषण, डा. देवेन्द्र कुमार प्रमुख तौर से मौजूद रहे। जनपद में आयोजित मेलों में 282 लोगों की डयूटी लगाई गयी,जिनमें 100 चिकित्सक व 182 पैरा मेडिकल स्टाफ शामिल है 

मेले में बुखार समेत मौसमी बीमारियों की जांच, गर्भवती व बच्चों का टीकाकरण, दवा और सभी पैथालॉजी की जांच निःशुल्क, निःशुल्क सैनेटरी नैपकीन वितरण, नसबंदी के लिए पंजीकरण, आंखों की निःशुल्क जांच, क्षय रोग की जांच,परिवार नियोजन के अस्थायी साधन का निःशुल्क वितरण की सुविधाएं उपलब्ध रहीं. मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले में आयुष्मान भारत योजना के स्टॉल लगा कर सैकड़ो लोगों के गोल्डेन कार्ड भी बनाए गए। सीएमओ ने बताया कि प्रत्येक रविवारीय स्वास्थ्य मेले में प्रयास होगा कि ज्यादा से ज्यादा केंद्रों पर कैंप लगा कर लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड की सुविधा प्रदान की जाए। इसके अलावा मेले में चिकित्सा व उपचार के अलावा संदर्भन की सुविधा, गर्भावस्था, प्रसवकालीन व जन्म पंजीकरण का परामर्श, बच्चों में डायरिया, निमोनिया रोकने के लिए परामर्श सुविधा, मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया व कुष्ठ की स्क्रीनिंग, बीपी, शुगर, मुख, स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग, तंबाकू और मद्यपान छोड़ने के लिए परामर्श की सुविधा भी उपलब्ध रही.

No comments