Latest News

राजयोग केन्द्र के शुभारम्भ पर निकाली सशक्तिकरण कलश यात्रा

स्व परिवर्तन से विश्व परिवर्तन करने का दिया संदेश 

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के ज्वालागंज स्थित राजयोग सेवाकेन्द्र से सम्बद्ध हरिहरगंज में नये राजयोग केन्द्र के शुभारम्भ अवसर पर ज्वालागंज से अध्यात्मिक सशक्तिकरण कलश यात्रा का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में माताओं, बहनों, बच्चों व भाईयों ने हिस्सा लेकर स्व परिवर्तन से विश्व परिवर्तन करने का संदेश दिया। 
सशक्तिकरण कलश यात्रा में शामिल सेवा केन्द्र प्रभारी नीरा बहन व अन्य।
हरिहरगंज के नये राजयोग सेवाकेन्द्र के शुभारम्भ अवसर पर ब्रम्हाकुमारी नीरा बहन ने कहा कि आज संसार में विज्ञान बल, बाहुबल, धन बल आदि होते हुए भी हमारा समाज दिन प्रतिदिन चारित्रिक एवं नैतिक पतन की ओर गिरता जा रहा है। जिसके कारण मनुष्य के मानव मूल्य खोते जा रहे हैं। इसका मूल कारण आध्यात्म एवं श्रेष्ठ संस्कारों की कमी है। यदि मनुष्य आध्यात्मिक शक्तियों को अपने अंदर विकसित करे तो भारत फिर से देव भूमि बन सकता है। ब्रम्हाकुमारी प्रियंका बहन ने बताया कि राजयोग वह विद्या है जिसमें आत्मा परमातमा से बुद्धि का कनेक्शन जोड़कर मन के विकारों पर विजय प्राप्त कर सकती है। विश्व में कोरोना वायरस से तो कुछ ही लोग पीड़ित हैं परन्तु काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार रूपी वायरस से तो सारा संसार ही पीड़ित हो चुका है। जिससे हर इंसान दुखी और अशांत हो गया है। इसलिए ऐसे हास्पिटल एवं कालेज खोलने की जरूरत है जहां आत्मा का इलाज हो सके। आध्यात्मिक सशक्तिकरण कलश यात्रा ज्वालागंज राजयोग सेवाकेन्द्र से निकलकर हरिहरगंज सेवाकेन्द्र पर समाप्त की गयी। जिसमें सैकड़ों माताओं, बहनों, बच्चों एवं भाईयों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। सभी को स्व परिवर्तन से विश्व परिवर्तन करने का संदेश दिया गया। छोटे-छोटे बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करके सभी में खुशी की लहर फैला दी। ब्रम्हाकुमारी विमला बहन एवं ममता बहन ने भी अपने उद्गार व्यक्त किये। दिनेश, चन्द्रपाल, अशोक आदि ने सेवा का कार्यभार संभाला। 

No comments