Latest News

प्रभारी मंत्री ने की कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो की समीक्षा

बिजनौर, (संजय सक्सेना) राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग उ0प्र0 कपिल देव अग्रवाल प्रभारी मंत्री जिला बिजनौर ने सभी अधिकारियों  को सचेत करते हुए कहा कि शासन की मंशा और भावनाओं के अनुरूप कार्य करें और शासकीय योजनाअेां को पूर्ण मानक एवं गुणवत्ता के साथ क्रियान्वित किया जाए ताकि उनका लाभ पंक्ति के अन्त में खड़े व्यक्ति को भी निश्चित रूप से पहुंचे। उन्होंने कहा कि शासन की दृष्टि में सबसे कमजोर और असहाय व्यक्ति सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है और उसे विकास की मुख्य धारा से जोड़ना प्राथमिकताओं में से एक है। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपनी कार्यशैली में अपेक्षित सुधार लायें क्योंकि वे शासकीय सेवक है, जिनके द्वारा शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों को धरातल पर लाया जाता है। अतः अपने अधिकारों का प्रयोग सेवाभाव से करें ताकि प्रदेश के आम नागरिकों को शासन द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं का भरपूर लाभ प्राप्त हो और प्रदेश को वास्तव में उत्तम प्रदेश के रूप में उदय हो सके। 
प्रभारी मंत्री विकास भवन के सभागार में कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। बैठक के दौरान जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय द्वारा राज्य मंत्री को बुके देकर उनका स्वागत किया गया। 
उन्होंने निर्देश दिये कि जिले के विकास में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाशत नहीं की जाएगी और न ही जन कल्याणकारी योजनाओं में पात्र लोगों को लाभान्वित करने में लापरवाही क्षम्य होगी। उन्होंने  स्पष्ट करते हुए कहा कि उ0प्र0 सरकार की प्राथमिकता है कि प्रदेश में संचालित विभिन्न विकास योजनाओं को मूर्त रूप प्रदान हो और उनका क्रियान्वयन कागजी नक्शों में नहीं बल्कि धरातल पर हो ताकि पंक्ति के अंतिम छोर पर खड़ा असहाय व्यक्ति भी विकास के लाभ का आनंद प्राप्त कर सके। उन्होनंे विद्युत, लोनिवि, स्वास्थ्य और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को विशेष रूप से सचेत करते हुए कहा कि विभागीय योजनाओं का गुणवत्तापूर्वक शत प्रतिशत लाभ जनसामान्य को पहुंचाना सुनिश्चित करें क्योंकि इन्हीं विभागों का सीधा सम्बन्ध आम जनता से होता है, इसलिए पूरी निष्ठा और ईमानदारी से संबंधित अधिकारी विभागीय योजनाओं को क्रियान्वित कर जन सामान्य को लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। 
उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि थाने में अपनी समस्या के लिए आने वाले व्यक्ति का सम्मानपूर्वक स्वागत करने के लिए थानाध्यक्षों को कड़े निर्देश दें कि उसकी समस्या को ध्यानपूर्वक सुनें और पूर्ण गुणवत्ता के साथ उसका समाधान करना सुनिश्चित करें। बैठक में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग उ0प्र0 कपिल देव अग्रवाल प्रभारी मंत्री जिला बिजनौर ने स्थानीय विधायकों से अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी प्राप्त की और सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्राथमिकता एंव गुणवत्ता के आधार पर उनकी समस्याओं का समाधान करना सुनिश्चित करें। जनपद के अन्दर जो विकास कार्य कराये जा रहे है जैसे सडक निर्माण, नलकूप निर्माण, पुल/पुलिया निर्माण, उनका भौतिक सत्यापन कराने के बाद सांसद एवं विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष से उद्घाटन करायें। 
जिलाधिकारी रमाकान्त पाण्डेय द्वारा व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री/प्रभारी मंत्री को विश्वास दिलाते हुए कहा कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का अक्षरश: पालन सुनिश्चित किया जाएगा और शासन की मंशा और भावना के अनुरूप शासकीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं को पूर्ण गुणवत्ता और पारदर्शिता के साथ सम्पन्न कराया जाएगा। 
निर्धारित कार्यक्रम के अंतर्गत मंत्री द्वारा राजकीय इन्टर काॅलेज के नव निर्मित भवन का निरीक्षण किया गया।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष साकेन्द्र प्रताप सिंह. विधायकगण नहटौर एवं सदर, भाजपा जिला अध्यक्ष, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी अधिकारी, उप निदेशक कृषि, अर्थ एवं संख्या अधिकारी, परियोजना निदेशक सहित सभी प्रशासनिक तथा जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

No comments