Latest News

नहर फटी फसल डूबी, किसान बेहाल

हमीरपुर, महेश अवस्थी । मौदहा तहसील के टीहर गांव में मौदहा बांध की माइनर नंबर एक के ओवरफ्लो होने के साथ बंधी के अंदर ही उनके खेतो में टेल समाप्त होने से 200 बीघे की फसल जलमग्न हो गयी। जिससे दो दर्जन किसान बुरी तरह प्रभावित हुए है। क्योंकि फसल सडने से उनकी जीविका का कोई साधन न होने पर किसानो ने मुआवजे की मांग की है। किसान संतोष मुन्ना, राजकुमार, साहब सिंह, रामआश्रय, गंगाराम, गोरेलाल, देवीदीन अरविन्द, रमेश, कामता, ओमप्रकाश ने अधिकारियों को बताया कि वे लोग लम्बे अरसे से माइनर के टेल को आगे बढाते हुए नाले में डालने की मांग करते आ रहे है। वह 15 साल से इस नहर की त्रासदी से परेशान
है। अगर नहर को आगे नही बढाया जाता तो इसे पूरी तरह से बंद कर दिया जाये ताकि उनकी बर्बाद होने वाली फसलो को बचाया जा सके। इस समय पानी से रबी की फसल जलमग्न हो गयी है। फसल बर्बाद होने के बाद अब यहां दूसरी फसल नही बोई जा सकती। कटाई का समय होने के बावजूद फसल बोना असंभव है। राजस्व व सिंचाई विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे उन्होने नुकसान का आकलन कर लिया है। अगर मुआवजा न दिया गया तो मजबूर होकर वे पूरे परिवार के साथ सड़क में आंदोलन करने को मजबूर होंगे। इसी प्रकार बेतवा नदी में अचानक पानी आ जाने से जायद की फसल डूब गयी है। मौदहा बांध के अधिशाषी अभियन्ता एके निरंजन ने बताया कि लहचूरा बांध में पानी भरने के लिए दूसरे बांधो से पानी छोडा गया था। जो बह कर नदी में आ गया। इन हालातो के सुधार में 15 दिन का समय लग जायेगा। 

No comments