Latest News

मंदिर का दरवाजा तोड़ अष्टधातु की प्राचीन बहुमूल्य मूर्तियां चोरी

चोरी गयी मूर्तियां बतायी जा रही है सैकड़ों वर्ष पुरानी

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । कोढ़ा किर्राही गांव के प्राचीन मंदिर का पिछला दरवाजा तोड़कर अज्ञात चोरों ने प्राचीन बहुमूल्य अष्टधातु की मूर्तियां मय जेवरात चोरी कर ली है। मंदिर से बेसकीमती प्रतिमाओं की चोरी से ग्रामीणों में आक्रोश देखा जा रहा है। तो वहीं थाना पुलिस चोरों की तलाश में जुट गयी है।
सिरसा कलार थाना अंतर्गत ग्राम कोंढ़ा किर्राही में रामजानकी का बहुत प्राचीन मंदिर है। मंदिर के विरासतन
मंदिर का गर्भगृह जहां मूर्तियां रखी थी।
महंत सुवेश चंद अवस्थी पुत्र रामकृष्ण अवस्थी निवासी कोंढा किर्राई हैं लेकिन पैरालाइसिस बीमारी के कारण वह अपने ननिहाल रामपुरा थानान्तर्गत ग्राम जगम्मनपुर में अपने पुत्रों व परिजनों के पास रहते हैं। मंदिर की व्यवस्था स्थानीय बाबूराम देखते हैं। आज बीती रात पुजारी बाबूराम अपने खेतों में पानी लगाने के लिए गए तो इन्होंने रखवाली के लिए गांव के ही एक विकलांग व्यक्ति सर्वेश कुमार अवस्थी को मंदिर में रहने को कहा। रात में जब सर्वेश मंदिर में सो रहा था उसी समय अज्ञात चोरों ने पिछला दरवाजा तोड़कर मंदिर की पूजित राम, जानकी, लक्ष्मण वह लड्डू गोपाल की अति प्राचीन अष्टधातु की मूर्तियां चोरी कर ली। मूर्तियों पर लगभग 1 किलो चांदी के मुकुट भी थे। मंदिर के महंत सुवेश चंद्र अवस्थी के छोटे भाई दिनेश चंद्र अवस्थी ने बताया कि गांव का यह मंदिर बहुत प्राचीन है। इसमें रखी अष्टधातु की मूर्तियां लगभग 700-800 वर्ष पुरानी है जिनकी ऊंचाई 30 इंच व 24 इंच है। बाजार में इनकी लगभग कीमत एक करोड़ उससे अधिक होगी। उक्त घटना की सूचना सिरसा कलार थाना पुलिस को दे दी गई है लेकिन अभी तक लिखित में कोई तहरीर नहीं दी गई है।

No comments