संत रविदास की शिक्षाओं को अपनाए जाने पर दिया गया बल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, February 9, 2020

संत रविदास की शिक्षाओं को अपनाए जाने पर दिया गया बल

फतेहपुर, शमशाद खान । संत रविदास की 643 वीं जयंती पर शहर के तपस्वी नगर स्थित एक मैरिज लान में स्मृति व्याख्यान का आयोजन किया गया। जिसमें गुरु रविदास की शिक्षाओं पर प्रकाश डालते हुए उनके द्वारा समाज के लिये किये गए कार्यो को याद किया गया। 
कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप में दिल्ली के विख्यात पत्रकार अमित राजपूत ने शिकरत की। कार्यक्रम को
कार्यक्रम को सम्बोधित करते वक्ता।
सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि अमित राजपूत ने कहा कि सन्त शिरोमणि रविदास द्वारा आजीवन दबे कुचले एव समाज के वंचितों के लिये सँघर्ष करने का काम किया गया। उनके अथक प्रयासों से वंचित लोगो के साथ सामाजिक एव धार्मिक मान्यताओं के नाम पर किये गये भेदभाव को बंद कराने के साथ ही स्थिति में अनेकों सुधार संभव हो सके। उन्होने कहा कि सन्त रविदास द्वारा आजीवन समाजिक बुराइयों को रोकने व कुप्रथाओं को बन्द कराने के लिये सँघर्ष किया गया।  उन्होंने समाज के लोगों से संत रविदास जी शिक्षाओं को अपनाए जाने पर बल दिया। आयोजक अशोक तपस्वी ने सन्त रविदास के उपदेशों की व्याख्या करने के साथ ही उनकी शिक्षाओं को अपनाए जाने के साथ उनके आदर्शों पर चलने का आह्वान किया। इस मौके पर डॉ देवेंद्र श्रीवास्तव, अनुराग श्रीवास्तव, कोटेश्वर शुक्ला, अभिषेक, सुनील गुप्ता, नफीस अहमद मुन्ना आदि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages