Latest News

जागरूकता अभियान चलाएं और दुरुस्त हो सफाई व्यवस्था: डीएम

संचारी रोग नियंत्रण अभियान को लेकर डीएम ने दिए निर्देश 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत संचारी रोग नियंत्रण अभियान में लापरवाही न की जाए। संचारी रोग जनित कारकों (रोगाणुओं) जैसे प्रोटोजोआ, कवक, जीवाणु, वायरस इत्यादि के कारण होते हैं। संचारी रोगों में एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने की क्षमता अधिक होती है। मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, फाइलेरिया, मस्तिष्क ज्वर इत्यादि संचारी रोगों के उदाहरण हैं। इस रोग से बचाव के लिए जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका, नगर पंचायतों को निर्देशित करते हुए कहा कि जागरूकता अभियान चलाये जायें, सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। सोकपिट का निर्माण कराया जाए। शहरी क्षेत्र में फागिंग कराई जाए और पेयजल की गुणवत्ता के अनुश्रवण के लिए बैक्टिरियो लाजिकल जांच कराई जाए और संवेदनशील क्षेत्रों को प्राथमिकता के आधार पर खुले में शौच से मुक्त कराने का कार्य किया जाए। उन्होंने पंचायती राज विभाग तथा समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि खराब इण्डिया मार्का-2 हैण्डपम्पों की मरम्मत करायी जाए। शौचालयों तथा सीवर से पेयजल प्रदूषित न होने देने के आवश्यक उपाय किये जाएं। जलाशयों एवं नालियों की नियमित सफाई करायी जाए, कचरा निस्तारण एवं प्रबन्धन की व्यवस्था की जाए।
बेठक को संबोधित करते जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल
जिलाधिकारी श्री बंसल ने बेसिक शिक्षाधिकारी एवं जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रतिदिन प्रार्थना सभा में बच्चों को बीमारियों से बचाव की जानकारी दी जाए और प्रभात फेरी, रैलियां, नारेबाजी तथा साबुन से हाथ धोना आदि के विषय में भी बताया जाए। राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज बांदा को निर्देशित करते हुए कहा कि एईएस/जेई रोगियों के उपचार की व्यवस्था की जाए और राज्य स्तरीय रैपिड रिसपाॅन्श टीम का गठन किया जाए। जिला दिव्यांग एवं सशक्तिकरण अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि दिव्यांग बच्चों के पुनर्वास हेतु सहायक उपकरणों का वितरण किया जाए। जिला कृषि अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि मक्षरों के प्रजनन को रोकने के उपाय किये जायें तथा मच्छर रोधी पौधों को उगाया जाए। अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देशित करते हुए कहा कि नहरों तथा तालाबों के किनारे उगी झाड़ियों को प्रत्येक पखवारे हटवाने का कार्य किया जाए। नहरों में जल क्षरण की मरम्मत का कार्य भी किया जाए। सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार किया जाए जिससे जन-जन तक जानकारी प्राप्त हो सके। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चन्द्र वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संतोष कुमार, महिला चिकित्सा अधीक्षक डा. ऊषा सिंह, पुरूष चिकित्सा अधीक्षक सहित सम्बन्धित डा. उपस्थित रहे।

डीएम ने की मीडिया कार्यशाला की समीक्षा बैठक 
बांदा। जिला स्वास्थ्य समित एवं शासी निकाय तथा सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान 2.0 की जनपद स्तरीय मीडिया कार्यशाला की समीक्षा बैठक जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभाकक्ष में सम्पन्न हुुई। उन्होंने आयुष्मान भारत के तहत बनने वाले गोल्डन कार्ड की प्रगति की जानकारी प्राप्त करते हुए कहा कि सभी ब्लाकों में कैम्प लगाकर निशुल्क कार्ड बनाये जायें, जिससे ज्यादा से ज्यादा गरीबों को लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने जननी सुरक्षा योजना की भौतिक प्रगति की जानकारी प्राप्त की जिसमें से महुआ ब्लाक के जौरही तथा बांदा शहर के मेडिकल काॅलेज की प्रगति बहुत ही खराब थी। नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि जो एएनएम रूचि लेकर अपने कार्य एवं दायित्वों को निर्वहन न करे उन्हें हटाने का कार्य किया जाए। सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान चिकित्सा अधिकारी के द्वारा बताया गया कि यह अभियान 02 मार्च से चलाया जायेगा और गर्भवती महिलाओं तथा बच्चों को टीकाकरण कर लाभान्वित किया जायेगा। 

No comments