Latest News

पुष्प वाटिका लीला देखकर दर्शक भावविभोर

अजीतपारा में श्रीराम लीला का हो रहा मंचन 

बिलगांव, कृपाशंकर दुबे । संगीत, भजन मंगलाचरण आरती-पूजन के बीच वृहद तरीके से अजीतपारा गांव में कौशल किशोर मंदिर परिसर में बसंत पंचमी के दिन से शुरू चार दिवसीय श्रीराम लीला के प्रथम दिवस विधि विधान से पूजन-अर्चन के साथ श्रीराम जन्म की आकर्षक लीला का मंचन किया गया। साथ ही दूसरे दिन शुक्रवार को ताड़कावध की लीला देख दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। कार्यक्रम की शुरुआत कमेटी प्रबंधक सुरेंद्र कुमार शिवहरे आदि के द्वारा भगवान की आरती पूजन से की गई। शनिवार को पुष्प वाटिका लीला का मंचन किया गया, जिसे देखकर श्रोता भावविभोर हो गए। 
मंचन करते कलाकार
अजीतपारा गांव में अबकी बार भी चार दिवसीय श्रीराम लीला तथा मेला की शुरुआत वृहद तरीके से की गई। रामलीला में दूरदराज जनपदों से पधारे उच्च कोटि के कलाकारों द्वारा बखूबी विभिन्न कलाओं की प्रस्तुतियां देते हुए दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर रहे हैं। व्या समंच पीठ के द्वारा विभिन्न भजन मंगलाचरण आरती पूजन तथा मानस की चैपाइयों के बीच वृहद तरीके से लीला की शुरुआत की जा रही है। इसी के साथ ही बीच-बीच नृत्यकारों द्वारा विभिन्न भजनों की प्रस्तुति के बीच नृत्य व रेकार्डिंग नृत्य दर्शकों को आकर्षित किए हैं। साथ ही हास्य कलाकारों के द्वारा भी महफिल को समां बांधे रहे। इसी के साथ मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जन्म की आकर्षक लीला से चार
श्रीराम लीला मंचन के दौरान मौजूद दर्शक
दिवसीय लीला की शुरुआत कमेटी प्रबंधक सुरेंद्र कुमार शिवहरे, राकेश शर्मा, कमेटी अध्यक्ष कोदूराम शिवहरे आदि के द्वारा भगवान की आरती पूजन से की गई। दूसरे दिन शुक्रवार को ताड़कावध की लीला का मंचन किया गया, जिसे देख दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। दिन में आयोजित श्रीराम लीला तथा मेला देखने के लिए दर्शकों की दिनोंदिन अपार भीढ़ बढ़ रही है। शनिवार को पुष्प वाटिका लीला का मंचन किया गया। कमेटी प्रबंधक सुरेंद्र कुमार शिवहरे ने बताया कि चार दिवसीय रामलीला परषुराम लक्ष्मण संवाद की लीला का मंचन किया जाएगा। श्री शिवहरे ने गांव सहित आसपास क्षेत्र के लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में पधारकर लीला व मेला शांतिपूर्ण तरीके से देखने की अपील की है। चारि दविसीय लीला तथा मेला में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए बिलगांव पुलिस चैकी प्रभारी श्यामदेव सिंह, हमराही कांस्टेबल बाबूलाल सिंह, ऋषि अग्निहोत्री, हेड कांस्टेबल रघुनाथ सिंह कछवाह सहित डटे रहे। 

No comments