Latest News

दलहनी क्षेत्र को बढ़ाकर किसान ले सकते है अधिक उपज

10 फरवरी को विश्व दाल दिवस पर गोष्ठी व प्रदर्शनी

हमीरपुर, महेश अवस्थी । प्रदेश सरकार किसानो की आमदनी दोगुना करने के लिए प्रयत्नशील है। जिसका आधार है कृषि का उत्पादल लागत कम हो और अधिक उत्पादन और प्राप्त उपज का उचित मूल्य मिल सके। उत्पादन लागत में कमी लाने के लिए सर्वाधिक उपर्युक्त फसल उर्द, मूंग चना, मटर मशूर है। जिनमंे कम सिचांई, कम लागत से अधिक उत्पादन और प्रोटीन का प्रचुर श्रोत मिलता है। दलहनी उत्पादन का विक्रय मूल्य
भी अधिक मिलता है। जहंा कम वर्षा होती है। वहां यह फसले अच्छी पैदा होती है। इसी उद्देश्य से विश्व दाल दिवस 10 फरवरी को मनाया जा रहा है। एक दिवसीय कृषि प्रदर्शनी एवं किसान मेला का आयोजन पुलिस परेड ग्राउंड में किया जा रहा है। जिसमें कृषि प्रदर्शनी और वैज्ञानिको द्वारा उन्नत खेती की तकनीक बतायी जायेगी। यहां सातो जिलांे के किसान भाग लेंगे। मकसद दलहनी फसलो को बढ़ावा देना है। विभिन्न विभागो की रोचक स्टाल व साहित्य वितरण भी किया जायेगा। जिलाधिकारी डा. ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने किसानो से अपील की है कि वह अधिक से अधिक संख्या में शामिल होकर ज्ञानार्जन करते हुए दलहनी उत्पादन के क्षेत्र को बढ़ावे।

No comments