Latest News

आरोग्य मेले में लोगों ने खाई फाइलेरिया से बचाव की दवा

दो शहरी समेत कुल 46 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर लगे आरोग्य मेले

बांदा, कृपाशंकर दुबे । अवकाश के दिन कैंप के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए जनपद में 2 फरवरी से हर रविवार को जनपद में मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों का आयोजन किया जा रहा है। ये मेले 2 शहरी समेत कुल 46  प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर लगाए जा रहे हैं। इसी क्रम में आज तीसरे रविवार को लगे आरोग्य मेलों में लोगों को चिकित्सीय सुविधाओं देने के साथ-साथ फाइलेरिया दवा भी खिलाई गई। जिला मलेरिया अधिकारी पूजा अहिरवार ने बिसंडा ब्लॉक के कुर्रही गांव के आरोग्य मेले में उपस्थित लोगों को दवा खिलाकर इसका शुभारम्भ किया। 
ग्रामीण को फाइलेरिया की दवा देते स्वास्थ्य टीम के सदस्य
उन्होंने बताया कि समुदाय के लोगों में इस बीमारी और इस रोग के इलाज में प्रयोग में आने वाली एमडीए दवाइयों के लाभ के बारे में अधिक जानकारी न होने से ज्यादातर लोग दवाई का सेवन नहीं करतें हैं। यदि कुछ लोगों ने दवाई नहीं खायी है तो पूरे समुदाय को फाइलेरिया से खतरा बना रहता है। समुदाय के सभी सदस्यों को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है, कि वह स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की निगरानी में यह दवाएं लें और दूसरे लोगों को भी ऐसा ही करने के लिए प्रेरित करें। हम में से हर एक व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि वह एमडीए को सफल बनाएं। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया से बचाव के साथ एमडीए दवाइयों से कई दूसरे लाभ भी हैं, जैसे यह आंत के कृमि का भी इलाज करती है जिससे खासकर बच्चों के पोषण स्तर में सुधार आता है और उनके शारीरिक और मानसिक विकास में मदद मिलती है। पूजा अहिरवार ने बताया कि फाइलेरिया उन्मूलन के लिए जनपद में 17 से 29 फरवरी तक अभियान चलाया जाना है पर दो दिन पहले चिकिसा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के प्रमुख सचिव द्वारा वीडिओ कान्फ्रेंसिंग में दिए गए निर्देश के अनुसार आरोग्य मेलों में फाइलेरिया की दवा खिलाकर इसकी शुरुआत कर दी गई है। 
 
4200 लोग हुए लाभान्वित, 134 गोल्डन कार्ड भी बने 

बांदा। आरोग्य मेलों में बुखार समेत मौसमी बीमारियों की जांच, गर्भवती व बच्चों का टीकाकरण, दवा और सभी पैथालॉजी की जांच निःशुल्क, निःशुल्क सैनेटरी नैपकीन वितरण, नसबंदी के लिए पंजीकरण, आंखों की निःशुल्क जांच, क्षय रोग की जांच और परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों का निःशुल्क वितरण किया गया। 2 शहरी समेत 46 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर लगे इन मेलों में कुल 80 चिकित्सक व 202 पैरामेडिकल स्टाफ लगाए गए थे। आज लगे इन मेलों में लगभग 4200 लोग लाभान्वित हुए। 40 लोगों को उच्च इकाइयों के लिए संदर्भित भी किया गया जिनमें 23 चिकित्सीय कारण, 8 आंख से सम्बंधित, 1 कान से सम्बंधित, 4 स्त्री रोग विशेषज्ञ व 4 अन्य सर्जरी के लिए संदर्भित किये गए हैं। इसके अलावा 134 आयुष्मान लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड भी बनाए गए। 

No comments