चार बेटियों के साथ माँ ने मौत को लगाया गले - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, February 1, 2020

चार बेटियों के साथ माँ ने मौत को लगाया गले

आर्थिक तंगी व नशेबाज पति से परिवार था परेशान

फतेहपुर, शमशाद खान । मानवता आज एक बार फिर से शर्मसार हो गयी। जब मुफलिसी में गुजर बसर कर परिवार चलाने वाली माँ समेत चार बेटियों की लाश उनके घर में मिली। बताया जाता है कि माँ ने अपनी चार बेटियों के साथ जहर खाकर आत्महत्या कर ली। 
घटनास्थल का निरीक्षण करते एसपी एवं मृतक मां व बेटियों की फाइल फोटो।
सदर कोतवाली क्षेत्र के शांतीनगर इलाके में रहने वाली श्यामा के पति रामभरोसे नशे का आदी है और नशे की लत के चलते कई कई दिनों तक घर नही आता था। परिवार बेहद आर्थिक तंगी की हालत में था। माँ श्यामा 40 वर्ष, बड़ी बेटी पिंकी 21 वर्ष, प्रियंका 18 वर्ष, वर्षा 13 वर्ष व ननकी 8 वर्ष ने एक साथ जहर खा लिया। जिससे पांचों की दर्दनाक मौत हो गई। मृतका श्यामा शहर के एक स्कूल में मिड डे मील बनाने का काम करती थी जबकि परिवार की बड़ी बेटी पिंकी बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर गृहस्थी चलाने में मां का हाथ बटाती थी। पिछले दो दिनों से घर का दरवाजा न खुलने के बाद पड़ोसियों की सूचना पर मौके पर पहुँची पुलिस घर का दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुई जहाँ पांचो के शव बरामद हुए है। माना जा रहा है कि मां ने अपनी चारो बेटियों के साथ सल्फास की गोली और जहरीला पाउडर पीकर आत्महत्या कर ली है। रामभरोसे अपनी पत्नी और बच्चियों के साथ एक कोठरी में जीवन यापन करता था। मोटर गैरेज में काम करने वाला रामभरोसे नाशीले पदार्थों का लती है। बताया जाता है कि रामभरोसे जब भी घर आता था तो वह पत्नी और बच्चों से लड़ाई झगड़ा किया करता था तीन दिन पहले रामभरोसे जब घर आया था तब भी पत्नी और लड़कियों से उसका जमकर झगड़ा हुआ था। यह झगड़ा ही इतनी बड़ी दुखद घटना का कारण माना जा रहा है। पुलिस ने राम भरोसे के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages