Latest News

भेड़ पालको की हत्या का खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

रेकी करने के बाद गला दबाकर की थी हत्या

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल के निर्देशन में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने टीम के साथ हत्या के मामले का खुलासा करते हुए हत्यारोपी को गिरफ्तार किया है।
कोतवाली में सीओ सिटी रजनीश कुमार यादव ने बताया कि कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अनिल सिंह को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुयी कि एक व्यक्ति कुछ बकरिया लेकर गुप्त गोदावरी की ओर जा रहा है। इस सूचना पर पुलिस टीम के साथ सेमरिया से गुप्त गोदावरी जाने वाले रास्ते पर पहुँचे। जिसे रोक कर पूछताछ की तो नाम, पता नत्थू साई उर्फ बड़का उर्फ बाबा उर्फ उदब खान पुत्र छोटे साई उर्फ अलूक खान निवासी ठाड़ी पाथर थाना कोठी जिला सतना बताया। कड़ी पूछताछ की गई तो माह नबम्बर में ग्राम रसिन से रमेश कुशवाहा पुत्र कैरा प्रसाद निवासी रामनाथ का पुरवा मजरा रसिन की करीब 50 बकरिया चोरी हुई थी। जिनकी पहचान को रमेश
कुशवाहा को मौके पर बुलाया गया। जिसने अपनी बकरियो को पहचान लिया। पकड़े गए आरोपी ने बताया कि गैंग है जो भेड़ बकरिया चोरी करते है। चोरी करते समय कोई प्रतिरोध करता है तो उसकी हत्या कर देते है। आरोपी ने दो-तीन जनवरी की रात खोह के पास पिता और पुत्र की हत्या कर भेड़ो की चोरी करना भी स्वीकार किया है। बताया कि दो जनवरी को नत्थू साई अपने पुत्र व दामाद के साथ बकरी व्यापारी बनकर ग्राम खोह के पास आये। जहाँ पर उन्होने डिल्लू पुत्र देवीदयाल व देवीदयाल पाल पुत्र गया प्रसाद निवासीगण सकरौली थाना पहाड़ी से भेड़ो को खरीदने के सम्बन्ध में बातचीत कर मौके की रेकी की। रात्रि में मौका देखकर भेड़ो को चोरी करने का प्रयास किया तो देवीदयाल व उनके पिता जाग गये। विरोध किया तो गला दबाकर हत्या कर दी। भेड़ो को गाड़ी में भरकर सरैया, मानिकपुर, सतना के रास्ते छतरपुर मध्य प्रदेश ले गये। गिरफ्तार आरोपी तथा गैंग के विरूद्ध भेड़ बकरिया चोरी करने तथा चोरी के दौरान हत्या के मध्य प्रदेश तथा उत्तर प्रदेश में करीब एक दर्जन मुकदमे पंजीकृत है। कब्जे से 14 बकरियां बरामद हुई है।

No comments