Latest News

राम मंदिर का निर्माण शीघ्र...

देवेश प्रताप सिंह राठौर
( वरिष्ठ पत्रकार)

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री रामचंद्र जी का भव्य मंदिर आप बनने की कुछ दिन बचे हैं आज उत्तर प्रदेश सरकार  जमीन राम मंदिर के लिए आवंटित कर दी गई है एक बहुत बड़ा फैसला है पूर्व में सुप्रीम कोर्ट द्वारा आ चुका था जिसे उत्तरप्रदेश सरकार ने निभाने का कार्य किया है। इस ट्रस्ट में बहुत से लोगों के नाम है वैसे एक बात सत्य है कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी जिन्होंने इतने दिनों तक टेंट में रहे ,14 बरस वनवास में रहे उसके बाद उन्हें सुख नहीं मिला और वह सुख के इंसान के भरोसे नहीं है क्योंकि उन्होंने खुद इंसान को बनाकर जमीन पर छोड़ा है और जो चाहते सब कर सकते हैं लेकिन फिर भी उस इंसान का क्या फर्ज है जिस राम का ना हुआ और किसी और का क्या होगा वही हमारे भगवान आज भी जन्म स्थल पर खुले आसमान में टेंट के सहारे रह रहे थे पर देश का उन्हीं का बनाया नागरिक उन्हीं के बनाए पुतले जो उनके राम मंदिर बनने में बाधक रहे हैं। लेकिन अव सुखद देश के लिए 100 करोड़ हिंदुओं के लिए बहुत बड़ी अच्छी खबर है और देश-विदेश में जो हिंदू रह रहे हैं वह भी चाहते थे और हमारे देश के तो चाहते ही हैं कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो भव्य निर्माण हो
क्योंकि इसमें बहुत से लोगों ने अपनी 1992 में जिस तरह हिंदुओं पर अत्याचार हुए थे नियत्ततो पर गोलियां चलाई गई थी।राम मंदिर निर्माण में ,और बाबरी मस्जिद को हटाए जाने पर हमारे निर्दोष भाइयों को जिस तरह मारा गया था जबकि बावर द्वारा राम मंदिर का गिरवा कर बाबरी मस्जिद बनवाई गई थी ।वैसे मुगलों का इतिहास है कि मुगल जहां भी रहे हैं वहां पर उस धर्म का उजाड़ करते आए हैं आप पाकिस्तान में ही देख ले कितने मंदिर टूटते हैं भारत की आजादी के बाद एक आध मंदिर वाचा हो वैसे सारे मंदिर तोड़ दिए गए हैं, पाकिस्तान में तो देखे ही हैं, आप काश्मीर में ही चले जाइए जो भारत का अंग है 1500 मंदिर कश्मीरियों मुसलमानों  ने तोड़ डाले थे जबसे धारा 370 हटी है ।  टूटे हुए मंदिरों को सुधारा जा रहा है ।क्योंकि राजनीति के चक्कर में सब भूल गए थे ईश्वर को भी आज वह ईश्वर उन लोगों को बताने का कार्य करेगा कि ईश्वर ही परम परमेश्वर होते हैं ईश्वर से बढ़ कर कोई नहीं जिसने आपको बनाया आप उसी के नहीं हुए तो औरों के क्या हो गए आज मोदी सरकार ने एक और बहुत बड़ा फैसला लिया इसमें संसद में ट्रस्ट बनाने की बात कही है टेस्ट में बहुत नामिनी एवं बुद्धिजीवी लोग  जिन्हें इतिहास ,भूगोल का पूर्ण रूप से ज्ञान है उनके  नाम सामने आए हैं बहुत सी अच्छी चीज है वर्तमान सरकार कर रही है लेकिन कुछ लोग शाहीन बाग को लिए बैठे हुए हैं साहिल वाग 2 मिनट मोदी चाह जाएंगे चुटकी बजाते ही साइन बाग में पता नहीं लेगा धरना प्रदर्शन वाली कहां चले गए लेकिन देख रहे हैं तेल की धार ,धार तेल की समझ सको तो समझो नहींआखिर में समझाना मोदी जी को आता है और कई बार समझाया भी है। लेकिन जब आदमी बड़े अहोडे पर होता है अभी इसकी जिम्मेदारी होती है तो सोच समझ के कार्य करता है। जिसे लोग कमजोरी समझ लेते हैं। वह अपने  अपने लोगों को प्यार से समझाने का प्रयास करता है ,जब प्यार की भाषा जब कोई नहीं मानता है तो बाद में लातों के भूत बातों से नही मानते हैं वह समझाना वर्तमान सरकार अच्छी तरह जानती है कोई भी सरकार हो जब हद पार हो जाती है चाहे मोदी की हो चाहे कांग्रेस की ओर से जनता दल की रही हो हर आदमी यही एक्शन लेगा आपको मालूम होगा जब इंदिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री थीने खालिस्तान के आका भिंडरवाले को जब उड़ाया था तो उन्होंने पहले सारी स्थिति को संभालने का प्रयास किया जब हद पार कर दी उस इस देश में जब उसने मंदिर का सहारा लेकर आतंकी घर बनाना शुरू कर दिया उसके बाद क्या हुआ इंदिरा दुर्गा का रूप धारण किया और सब का सफाया कर दिया जिसके कारण अपनी जान गंवानी पड़ी इंदिरा जैसी शख्सियत इस देश में ना हुई है ना होगी और उसके बाद अगर कोई दूसरा व्यक्ति आज पैदा हुआ है उसका नाम है मोदी मोदी जिस तरह से निर्णय लेते हैं उसी तरह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी निर्णय लेने में तनिक संकोच नहीं करती थी लेकिन अफसोस इस बात का है कि यहां पर देश हित की बात होती है तब विपक्ष सारा विरोध करता है और उन गद्दारों के साथ खड़ा होता है जो देश के कन्हैया कुमार उमर खालिद के जैसे गद्दार लोग देश को बर्बाद करने की सोच के साथ कार्य कर रहे हैं। उनके साथ खड़े दिखते हैं आज बड़े गर्व की बात है कि हमारा हजारों हजारों वर्षों से आस्था के प्रतीक श्री रामचंद्र जी भगवान का मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हुआ हम पूरे हिंदुस्तान के हर व्यक्ति आज गर्व महसूस कर रहे हैं कि हमारा भगवान हमारा मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जो सबको घर मकान दिए हुए हैं जिसने उसको सब कुछ दिया है जिसने इंसान को बनाकर जमीन में पैदा किया है वही आज वही इंसान के सहारे रहने के लिए मकान का आदेश की पालन के बाद आज मंदिर निर्माण की स्थित बनी है।

No comments