Latest News

अधिकारियों को ‘डोज’ दे गए रेलवे महाप्रबंधक

खामियां मिलने पर तरेरी आंखें, बुदबुदाते नजर आए रेल अफसर 
सीसी कैमरा कंट्रोल रूम, रेलवे अस्पताल का किया निरीक्षण 
सर्कुलेटिंग एरिया पर दौड़ी पैनी नजर, दे गए सख्त हिदायतें
जल्द ही दिव्यांगों के लिए शुरू की जाएगी लिफ्ट की सुविधा 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । रेलवे अधिकारियों की तमाम कोशिशों के बावजूद रेलवे महाप्रबंधक की पैनी निगाहों से खामियां बच नहीं पाईं। जीएम ने आंखें तरेरीं तो रेल अधिकारियों को पसीना छूट गया, वह बुदबुदाते नजर आए। अलबत्ता जीएम ने चेतावनी दी कि अव्यवस्थाएं कतई बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। रनिंग रूम की सीलन भरी दीवारें देखकर जीएम का पारा जैसे सातवें आसमान को छू गया। महाप्रबंधक ने दिव्यांगों के लिए जल्द ही लिफ्ट की सुविधा शुरू कराए जाने की बात कही है। 
रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करते महाप्रबंधक।
महाप्रबंधक राजीव चैधरी शुक्रवार को सुबह 15 बोगी वाली स्पेशल निरीक्षण यान ट्रेन से अधिकारियों के साथ सुबह 11रू10 बजे रेलवे स्टेशन पहुंचे। उन्होंने स्टेशन के विकास कार्यों का जायजा लेने के साथ ही उपलब्ध जन सुविधाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को यात्री सुविधाओं पर विशेष देने के दिशा-निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान रनिंग की दीवारों पर शीलन मिलने पर नाराजगी जताई। पूरे रनिंग रूम की व्यवस्थाओं का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होंने रनिंग रूम में मामूली सुधार के निर्देश दिए। हाल ही में शुरू हुई वीडियो निगरानी प्रणाली का महाप्रबंधक ने उद्घाटन किया। इस मौके पर रेल महाप्रबंधक ने नवीनीकृत रेलवे अस्पताल और स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का फीता और दीप जलाकर उद्घाटन किया। निरीक्षण के दौरान मीडिया से बातचीत में महाप्रबंधक ने कहा कि रेलवे स्टेशन में जल्द ही दिव्यांग यात्रियों के लिए लिफ्ट की सुविधा मिलेगी। अफसरों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। जल्द ही लिफ्ट लगाने का काम शुरू किया जाएगा। यात्रियों की सुविधाए रेल सेवा के विस्तार और इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष फोकस किया जा रहा है। हर स्टेशन में यात्री सुविधाओं के विस्तार का काम तेजी से चल रहा है। निरीक्षण के दौरान मुख्य वाणिज्य मंडल प्रबंधक डा.जीतेंद्र कुमार, वरिष्ठ मंडल अभियंता रमेश कुमार, वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक शशिकांत, वरिष्ठ मंडल अभियंता यांत्रिक मंटूरलाल घोष, मंडल अभियंता विद्युत भीमराव धन्ना, स्टेशन अधीक्षक बीपी वर्मा, यातायात निरीक्षक केके वर्मा, आरपीएफ आईजी उमाकांत तिवारी, जीआरपी इंस्पेक्टर रामबरन, सगीर सिद्दीकी, आरपीएफ इंस्पेक्टर एसके जांगिड़ आदि मौजूद रहे।

No comments