Latest News

विज्ञान आधारित माॅडल्स पर बच्चों को प्रोत्साहन

बिजनौर (संजय सक्सेना) जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान युग विज्ञान एवं टेक्नाॅलाजी का है, इस युग में वही समाज व राष्ट्र प्रगति के चरम पर पहुंच सकते हैं, जो प्रतिभाओं को विज्ञान के विषय में विकसित एवं परिर्वर्तित करने का साहस करेंगे. इस युग में विज्ञान ने मानव जीवन को बहुत से आयाम प्रदान किए हैं, जिनकी आज से एक शताब्दी पूर्व कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। उन्होंने कहा कि यह विज्ञान और टैक्नाॅलाजी का ही करिशमा है कि जो कार्य एक माह में होना सम्भव होता था, वह अब एक दिन में पूरा कर लिया जाता है। जीवन में कोई भी ऐसा क्षेत्र नहीं है, जिसमें विज्ञान ने प्रवेश कर मानव जीवन को आसान न बनाया हो। उन्होंने छात्र एवं छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि छोटे-छोटे माॅडल ही आगे चल कर अविष्कार को जन्म देते हैं। इसलिए सभी छात्र एवं छात्राएं अपनी प्रतिभाओं को खोजें और नये अविष्कार कर राष्ट्र और देश के निर्माण एवं विकास में अपना योगदान देें। 
जिलाधिकारी श्री पाण्डेय पूर्वान्ह 11 बजे स्थानीय इन्दिरा बाल भवन के प्रांगण में राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के अतंर्गत जिला स्तरीय प्रतियोगिता कार्यक्रम के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।
सर्वप्रथम कार्यक्रम का शुभारम्भ जिलाधिकारी द्वारा माॅ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलित कर किया। उन्होंने प्रतियोगिता कार्यक्रम में बच्चों द्वारा विज्ञान पर आधारित माॅडल्स को गहनता के साथ देख कर बच्चों के कार्यो को प्रोत्साहित किया। उन्होंने कार्यक्रम में जनपद के विज्ञान एवं शिक्षा के क्षेत्र में विशिष्ट कार्य करने वाले विद्यालयों को सम्मनित किया और कहा कि जनपद में स्थित समस्त विद्यालय पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ बच्चो को अच्छी शिक्षा प्रदान करें ताकि उनके स्कूल के साथ-साथ जनपद का नाम भी रोशन हो सके। 
इस अवसर पर परियोजना निदेशक विजय प्रकाश श्रीवास्तव, जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी महेश चन्द सहित स्कूली प्रधानाचार्य, अध्यापकगण एवं छात्र/छात्राएं मौजूद थे।

No comments