Latest News

यूनिवर्सिटी कॉलेजों में सुधार संभव नहीं........................ देवेश प्रताप सिंह राठौर (वरिष्ठ पत्रकार)

....... आज शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सी अनियमितताएं हैं यह अनियमितताएं क्यों हैं इन पर मैं आज आपको कुछ प्रकाश डालना चाहता हूं, बहुत बहुत बड़े मीडिया से जुड़े हुए लोग हैं, प्रिंट मीडिया से जुड़े हुए मालिक हैं, उनके बड़े-बड़े पेपर चलते हैं वह बाहुबली है नेता उनके पीछे चलते हैं पुलिस प्रशासन उनके दाएं बाएं घूमता है ऐसे लोगों के स्कूल कालेज चल रहे हैं। आप सोचिए कि वहां पर फीस और तानाशाही कैसे कम हो सकेगी जहां पर जो चौथा स्तंभ मीडिया का है वही लोग पेपर के मालिक जो कालेज चला रहे हैं और, और तरीके से उनकी फैक्ट्रियां चलती है कोई आवाज उठाएगा फीस से संबंधित है कालेज की अनियमितताओं के संबंध में तो वह क्या स्थिति में होगा आप समझ सकते हैं, क्योंकि इनके ऊपर बड़े-बड़े लोगों का हाथ होता है।इनका कोई कुछ नहीं कर सकता लेकिन जो शिकायत करता है या छोटा पत्रकार है जो इनके बारे में लिखने के लिए स्वतंत्र रूप से लिखने का प्रयास करता है तो यह प्रिंट मीडिया वाले बड़े-बड़े इलेक्ट्रानिक मीडिया वाले जिनका पेपर चलते हैं वह उन्हें परेशान करने का काम करते हैं जिनके चैनल चलते हैं वह सब कालेज खोले बैठे हुए हैं आप सोचिए सरकार भी चाहे इनको अंकुश नहीं लगा सकती मेरी राज्यपाल महोदय जी से और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी से विशेष निवेदन है शिक्षा में बढ़ोतरी के साथ जो कालेजों में वहां के मालिकाना प्रबंधक द्वारा गुंडागर्दी की जाती है और जो सरकारी स्कूल एवम यूनिवर्सिटी जहां है वहां पर प्रोफेसर से लेकर टीचर तक जो व्यवहार शिक्षकों का होना चाहिए छात्रों के प्रति वह नहीं है ,कोई पढ़ाना नहीं चाहता है सिर्फ टालने का काम करते हैं बहुत से गोरखधंधे हैं जो मैं लेखनी के माध्यम से नहीं लिख सकता क्योंकि छात्रों से मुझे बहुत सी जानकारियां प्राप्त हुई है जिसको लिखना संभव नहीं है लेकिन इसके माध्यम से मैं राज्यपाल महोदय एवम् और योगी जी तक यह बात रखना चाहता हूं कि भ्रष्टाचारी अभी दूर नहीं हुई है कॉलेजों में जब तक भ्रष्टाचारी दूर नहीं होगी तब तक मजबूत भारत के सपने देखना एक सपना ही बनकर रहेगा क्योंकि जब हमारी जड़ कमजोर होगी न नींव मजबूत नहीं होगी तो कैसे भवन का निर्माण मजबूती से संभव है।

No comments