Latest News

ट्रैक्टर की टक्कर से बाइक सवार जीजा साले की मौत

कमासिन थाने के इटर्रा गांव के इस्लाम नगर के पास हुई दुर्घटना 
ओवरलोड ईंटा लादकर एक लाइट जलाए ट्रैक्टर-ट्राली सड़क पर भर रही थी फर्राटा 
साले की मौके पर ही मौत, जीजा ने प्रयागराज जाते समय रास्ते में दम तोड़ा 

कमासिन, कृपाशंकर दुबे । बुधवार की देर शाम हुए दर्दनाक हादसे में एक लाइट जलाकर सड़क पर फर्राटा भर रही ओवरलोड ईंटा भरी ट्रैक्टर-ट्राली ने बाइक सवार जीजा और साले को टक्कर मार दी। जोरदार टक्कर लगने के कारण दोनो मौके पर ही गिरकर लहूलुहान हो गए। साले की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि जीजा
मृतक दीपू उर्फ जगदीश (फाइल फोटो) 
मरणासन्न हालत में पहुंच गया। इलाकाई लोगों की खबर पाकर पहुंची पुलिस ने परिजनों को बुलाया और तत्काल राजापुर (चित्रकूट) स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। वहां से प्रयागराज ले जाते समय रास्ते में जीजा ने भी दम तोड़ दिया। दोनो शवों को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम कराया गया। 
जनपद चित्रकूट के राजापुर थानांतर्गत बरद्वारा गांव निवासी दीपू उर्फ जगदीश (26) पुत्र नत्थू अग्रहरि गल्ला व्यापारी था। बुधवार की दोपहर को वह अपने बड़े भाई के साले दीपक गुप्ता (30) पुत्र बाबूलाल गुप्ता निवासी मऊ थाना मरका को बाइक में बैठाकर ओरन मंडी में तगादा करने गया था। वसूली के दौरान मिली 62 हजार रुपया की चेक, 25 हजार रुपया नगद लेकर जीजा और साले बाइक में सवार होकर बुधवार की शाम को
जगदीश की पत्नी संध्या उर्फ बिट्टो 
बरद्वारा गांव जाने के लिए रवाना हुए। बाइक अभी कमासिन थाने के इटर्रा गांव में इस्लाम नगर ही पहुंची थी कि सामने से एक लाइट जलाकर ओवरलोड ईंटा लादे ट्रैक्टर-ट्राली फर्राटा भरती चली आ रही थी। तेज गति होने के कारण ट्रैक्टर की टक्कर बाइक सवारों को लग गई। इस दुर्घटना में साले दीपक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि उसका जीजा दीपू उर्फ जगदीश मरणासन्न हालत में पहुंच गया। राहगीरों ने देखा तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मोबाइल के जरिए जगदीश के घरवालों को बताया। परिजनों के पहुंचने पर जगदीश को राजापुर (चित्रकूट) सीएचसी ले जाया गया। वहां पर प्राथमिक उपचार के बाद हालत गंभीर होने पर प्रयागराज के लिए रेफर कर दिया गया। परिजन जगदीश को प्रयागराज लेकर जा रहे थे, तभी रास्ते में उसकी मौत हो गई। प्रयागराज पहुंचने पर डाक्टरों ने भी जगदीश को मृत घोषित कर दिया। जगदीश की मौत हो जाने के बाद परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। मृतक जगदीश गल्ला व्यापारी था। वह चार भाइयों में तीसरे नंबर का था। मां संतोषिया और परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। इधर, मृतक दीपक गुप्ता दो भाइयों में छोटा था। उसके दीप पुत्रियां हैं। उसकी पत्नी प्रियंका गर्भवती है। गौरतलब हो कि दीपू उर्फ जगदीश बीती 30 जनवरी
मृतक दीपक गुप्ता (फाइल फोटो)
को दूल्हा बना था। उसकी शादी कामसनि में रहने वाले छोटेलाल गुप्ता की बेटी संध्या उर्फ बिट्टू के साथ हुई थी। शादी वाले घर में मंगल गीत गाए जा रहे थे। गुरुवार को बधाई पूजा होनी थी और इसकी पूर्व संध्या पर ही जगदीश सड़क हादसे में अकाल मौत का शिकार हो गया। इस घटना के बाद जगदीश की पत्नी संध्या बदहवास हालत में है। वर और वधू पक्ष में कोहराम मचा हुआ है। इधर, ट्रैक्टर और बाइक भिड़ंत में अकाल मौत का शिकार होने वाले गल्ला व्यापारी दीपू उर्फ जगदीश गले में दो तोला सोने की जंजीर, तीन अंगूठियां सोने की पहने हुए था। उसके पास वसूली का 25 हजार रुपया नगद और 62 हजार का चेक था। लेकिन मौके से सिर्फ एक मोबाइल बरामद हुआ है। 25 हजार नगद, सोने की चेन और अंगूठियों का अता-पता नहीं है। हादसे के बाद या तो वहां से निकले लोगों ने जेवर और नगदी पार कर दी या फिर किसी और ने। इस बात को लेकर चर्चाओं का दौर जारी रहा। कमासिन थाना पुलिस ने बताया कि दुर्घटना के बाद ट्रैक्टर चालक को हिरासत में ले लिया गया। पूछतांछ के दौरान चालक ने अपना नाम चंद्रशेखर निवासी ग्राम मऊ थाना मरका बताया है। ट्रैक्टर को भी पुलिस ने कब्जे में ले लिया। चालक के अनुसार ट्रैक्टर मालिक का नाम साधू सिंह है। 

No comments