Latest News

जहरखुरानी का शिकार ट्रैक्टर मालिक पहुंचा न्यायालय

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । पीड़ितो को इंसाफ न मिलने की दशा में न्यायालय की शरण लेना पडता है। इसका प्रमाण बुधवार को उस समय देखने को मिला जब ट्रैक्टर मालिक ने आपबीती बताई। पीड़ित ने सीजेएम कोर्ट में सौपे आवेदन में बताया कि टैक्टर में बैठे दो अज्ञात लोगों में से एक व्यक्ति ने गुटखा खिलाया। कुछ समय बाद जब वह बेहोश होने लगा तो ट्रैक्टर खड़ा कर दिया। होश आने पर बांदा जनपद के खुरहंड के पास एकांत में पड़ा मिला। अर्द्धविक्षिप्त हालत में लोगों से पूछा। तभी पुलिस ने बस अड्डा बांदा भेज दिया। ट्रेन से कर्वी आकर घर पहुंचा। ट्रैक्टर का कुछ पता नहीं था। परिवार के लोगों को लेकर घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने संबंधित थाने में पहुंचा। जहां रिपोर्ट नहीं दर्ज की गई। मांग किया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश संबंधित थाना पुलिस को दिया जाए।

थाना रैपुरा के घुनुवा गांव के पीड़ित वाहन स्वामी रामचरण पुत्र कालीचरण ने न्यायालय में धारा 156 (3) के तहत सौपे गए आवेदन में बताया कि सोनालिका 734 डीआई ट्रैक्टर का मालिक है। गत माह ग्राम से मुन्नीलाल शर्मा पुत्र लक्ष्मी शर्मा का पुआल लाद कर रानीपुर भट्ट लाया था। संध्या पांच बजे वापस घर जाते समय बेडीपुलिया के समीप एसार पट्रोल पम्प के बीच दो लोग बाइक से आए और रुकने का इशारा दिया। ट्रैक्टर रोकने पर आए और ग्राम रामपुर के व्यक्ति ने कहा कि इनका सामान भरतकूप से कर्वी गेस्ट हाउस में छोड़ना है जो भाड़ा होगा दिया जाएगा। घर जाने की जल्दी बताई तो शादी का मामला जरूरी है। पीड़ित ने बताया कि भरतकूप की ओर जाते समय शिवरामपुर के समीप ढाबा में एक व्यक्ति खड़ा था। जिसे रोक कर साथ में चल रहे बाइक सवारों ने बाइक उसे दे दी और ट्रैक्टर में बैठ गए। बाइक के बारे में बताया कि अपने नौकर को दी है। पेीड़ित चालक ने बताया कि बैहार गांव के पास साथ में बैठे एक अज्ञात व्यक्ति ने गुटखा दिया। जिसे खाने के बाद वह बेहोश होने लगा। ट्रैक्टर खड़ा कर दिया। सुबह जब होश आया तो वह खुरहंड के पास मिला। जहां से किसी तरह घर आया। रिपोर्ट दर्ज कराने पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। पीड़ित ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्यवाही कराने की मांग की है।


No comments