Latest News

एक दिवसीय उर्स-ए-सरकार-ए-रब्बानी सम्पन्न

अपनी रस्मो रिवायात के साथ मुनक्किद हुआ 
उर्स में कुल शरीफ, कुरान ख्वानी, चादरपोशी, गुल पोशी की गई
नात मनकबत की महफिल सजाई गई जिसमे शोअरा हजरात ने कलाम सुनाए 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । अलीगंज वाके ईद गाह के बगल में जुमेरात को सैय्यदना सरकार अब्दुल रब सरकार रब्बानी का 68वां सालाना एक रोजा उर्स आयोजित हुआ। उर्स की उसकी शुरुआत कुरआन ख्वानी से हुई, उर्स के मौके पर पूरा दिन दरगाह में चादर, पोशी गुल पोशी फातेहा और लंगर का दौर चला। नात मनकबत और
तकरीर करते मुफ्ती शफीकुल कादरी
तकरीर कि महफिल सजी जिसमें शोअरा हजरात ने नात मनकबत पढ़ीं और उलमाए दीन ने पैगंबरे इस्लाम उनके सहाबा शोहदाए कर्बला और बजुर्गाने दीन की फजीलत पर तफसीली तकरीरें की। मुफ्ती शफीकुल कादरी मुम्बई, रूहुल अमीन, चांद कादरी जबलपुर आदि ने तकरीरें की। असगर रब्बानी ने मनकबत सुनाई महफिल की सदारत सैय्यद खुशतर रबबनी ने की। संचालन आरिफ हसन कलकत्ता ने किया। कार्यक्रम में कई फनकारों को प्रशस्ति पत्र दिया गया। आबिद रब्बानी शिबू न्याजी नजरे आलम आदि को प्रशस्ति पत्र दिए गए। इस मौके पर सैय्यद मेराज मसूदी अकील मियां, मुमताज रब्बानी, वाजिद रब्बानी, अमीर मसूदी आदि शामिल रहे। उर्स में बांदा के अलावा देश के कई इलाकों से आये अकीदतमंदों ने शिरकत की।


No comments