Latest News

वृद्धाश्रम में बच्चों ने जाना बुजुर्गों का हाल

विद्यावती निगम मेमोरियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राएं वृद्धाश्रम पहुंचे 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । ‘आज उंगली थाम के तेरी, तुझे मैं चलना सिखलाऊं, कल हाथ पकड़ना मेरा, जब मैं बूढ़ा हो जाऊं’ यह पंक्तियां एक बुजुर्ग ने वृद्धाश्रम के भ्रमण पर आए विद्यावती निगम मेमोरियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं से कहीं। इस दौरान स्कूली बच्चों ने वृद्धाश्रम में रहने वाले बुजुर्गों को तोहफे दिए। बच्चों से मिलकर बुजुर्गों की आंखें छलछला उठीं।   
वृद्धाश्रम में बुजुर्गों के साथ स्कूली बच्चे।
नरैनी रोड स्थित वृद्धाश्रम का गुरुवार को विद्यावती निगम मेमोरियल पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं ने भ्रमण कर बुजुर्गों से उनके अनुभव साझा किए। समाज के आधार स्तंभ बुजुर्गों से मिलकर तथा बच्चों के मासूम सवालों को सुन कर उन बुजुर्गों ने बच्चों को गले से लगा लिया। स्कूली बच्चों ने आश्रम में रहने वाले बुजुर्गों को खाद्य सामग्री, वस्त्र के साथ तोहफे दिए। दोबारा फिर मिलने का वायदा करके सभी बच्चें अश्रुपूरित आंखों के साथ विदा हुए। इस दौरान बच्चों ने बुजुर्गों के साथ फोटो भी खिंचवाई। प्रधानाचार्य ने बताया कि आधुनिक परिवेश और पाश्चात्य संस्कृति के कुप्रभाव के कारण नैतिक मूल्यों का पतन हो रहा है। इसी के चलते कुछ बच्चे अपने मां-बाप को वरदान के स्थान पर अभिशाप समझ कर वृद्धाश्रम तक छोड़ आने में नहीं हिचकिचाते। संस्कारों और नैतिकता का पाठ पढ़ाने के उद्देश्य से बच्चों को वृद्धाश्रम का भ्रमण कराया गया।

No comments