Latest News

ट्रेनों में चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा, एक गिरफ्तार

चार कीमती मोबाइल सहित पांच हजार की नगदी बरामद 

फतेहपुर, शमशाद खान । कानपुर से फतेहपुर रेल मार्ग पर सिग्नल लाल कर ट्रेनों  के अन्दर चढकर यात्रियों के पर्स व मोबाइल सहित अन्य वस्तुओ की चोरी करने वाले गिरोह का आरपीएफ व जीआरपी पुलिस ने सयुक्त रूप से खुलासा करते हुये गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार कर लिया है। उसके कब्जे से पूरी टीम ने चोरी के चार मोबाइल व लगभग चोरी किये गये पांच हजार रूपये भी बरामद कर उसे जेल भेज दिया है। 
पत्रकारो से वार्ता करते सीओ राजेश कुमार द्विवदी व टीम के साथ खडा अभियुक्त। 
घटना का विवरण देते हुये पुलिस उपाधीक्षक रेलवे कानपुर राजेश कुमार द्विवदी ने शुक्रवार को पत्रकारो को बताया कि पिछले दिनों सम्पूर्ण क्रान्ति एक्सपे्रस के कोच नम्बर ए-1, बी-3 गरीब रथ के कोच नम्बर जी-12 तथा पटना-राजधानी एक्सपे्रस के कोच नम्बर ए-5 के यात्रियों क्रमशः मनीषा का लेडीज पर्स, माधुरी झा का पर्स, आफरीन खान तथा पूजा कुमारी का लेडीज पर्स चोरी हो गया था। इन सभी घटनाओ का मुकदमा जीआरपी फतेहपुर में दर्ज किया गया था। चोरी की घटनाओ को रेलवे के अपर पुलिस महानिदेशक, डीआइजी व एसपी रेलवे प्रयागराज के अलावा वरिष्ठ मण्डल सुरक्षा आयुक्त मनोज कुमार सिंह ने गम्भीरता से लिया था। घटनाओ का खुलासा करने के लिये टीमे लगा दी गयी थी। इनमें जीआरपी थानाध्यक्ष अरबिन्द कुमार सरोज व आरपीएफ के इस्पेक्टर प्रवीण सिंह के साथ उपनिरीक्षक इमरान खान, आरक्षी अमित कुमार, अशित कुमार के अलावा आरपीएफ के उपनिरीक्षक मुकेश कुमार, प्रधान आरक्षी राधेश्याम शुक्ल, आरक्षी रमेश कुमार यादव, नागेन्द्र सिंह, राजकुमार यादव, राकेश शुक्ल, बृजमोहन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर 2/3 के पूर्वी छोर पर बनी सीमेन्ट की बेन्च पर बैठे एक संदिग्ध को दबोच लिया था। जिसने अपना नाम सन्नी डवास पुत्र बिरजू उर्फ बृजपाल निवासी जाटान खानपुर थाना झिन्झाना जनपद शामली बताया। पूछताछ पर उसने अपने साथियो के साथ मिलकर पिछले माह की 10/11 जनवरी की रात को एलएल ब्लांक हट चखेडी के पास सिग्नल लाल कर टेªनो में की गयी चोरी की घटना को स्वीकार किया हैं। पुलिस ने उसके कब्जे से महिला यात्रियो ं के चुराये गये पर्स व नगदी रूपये बरामद किये है। सीओ ने बताया कि पकडे गये सन्नी का मामा कन्हैया शातिर किस्म का चोर है जो टेªनो में घटनाओ को देने मे माहिर है। उन्होने बताया कि इन चार वारदातो के अलावा पकडे गये सन्नी के विरूद्ध आधा दर्जन मुकदमें जिले की जीआरपी में पंजीकृत है। जो सभी सिग्नल लाल करने से सम्बन्धित है। उन्होने कहा कि कन्हैया का संगठित गिरोह है जिसमें लगभग दर्जन भर सदस्य शामिल है। यह गैंग आधा यूपी, दिल्ली, पंजाब व हरियाणा में टेªनों में चोरी करता है। 

No comments