Latest News

नक्सलियों की गोली से शहीद हुआ विकास

छत्तीसगढ़ के चेरापल्ली जंगल में नक्सलियों से मुठभेड़ में शहीद हुआ सीआरपीएफ जवान 
शहादत की खबर मिलते ही जिले में दौड़ गई शोक की लहर

बांदा, कृपाशंकर दुबे । नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान बांदा का लाल सीआरपीएफ कोबरा विंग कमांडो शहीद हो गया। कमांडों के शहीद होने की खबर मिलते ही पूरे जिले में शोक की लहर दौड़ गई। परिजनों का रो-रोकर
शहीद सीआरपीएफ कमांडो विकास (फाइल फोटो)
बुरा हाल हो गया। प्रशासनिक अधिकारी और राजनीतिक दलों के नेताओं ने शहीद के पैतृक गांव पहुंच परिजनों का सांत्वना दी। उधर, शहीद के शव का पैतृक गांव में बुधवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होगा। 
सदर तहसील क्षेत्र के लामा गांव निवासी विकास कुमार पुत्र रतींद्रशरण 12 साल पहले सीआरपीएफ में भर्ती हुआ 
शहीद फौजी विकास का पैतृक गांव लामा में स्थित पुश्तैनी मकान
था। इन दिनों वह छत्तीसगढ़ के 204 बटालियन कोबरा विंग में तैनात था। सोमवार को छत्तीसगढ़ के चेरापल्ली जंगल में नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान वह शहीद हो गया। शहादत की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। खबर मिलते ही गांव के तमाम लोग इकट्ठा हो गए। सूचना पाकर एसडीएम सदर सुरजीत सिंह समेत कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश दीक्षित व अन्य राजनीतिक दल के तमाम लोग गांव पहुंच गए। शहीद के परिवार को ढांढस बंधाया। मृतक के छोटे भाई आकाश व विनय, मां कैलशिया और पत्नी नंदनी का रो-रोकर बुरा हाल था।
फौजी के घर के बाहर मौजूद रोती-बिलखती महिलाएं
पुत्र की शहादत पर मां बदहवाश हो गई। करुण क्रंदन से तमाम लोगों की आंखे नम हो गईं। लामा गांव में विकास ने छोटे भाई, मां और पत्नी नंदिनी से बताया कि विकास का फोन रविवार को आया था। उसने बताया था कि अब तीन दिन बाद ही बात हो सकेगी और उसकी मौत की खबर आ गई। इधर, 23 फरवरी को विकास की शादी की साल गिरह थी। छोटे भाई आकाश की शादी 7 मार्च को होना तय है। फौजी की याद में ग्रामीणों की आंखें भी नम रहीं। 

No comments