पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ कांग्रेसियों ने खोला मोर्चा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, February 5, 2020

पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ कांग्रेसियों ने खोला मोर्चा

तहसील दिवस में ज्ञापन सौंप मुकदमा दर्ज कराये जाने की उठायी मांग 

फतेहपुर, शमशाद खान । पूर्ति निरीक्षक पर एक कांग्रेसी नेता के साथ अभद्रता करने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए कांग्रेसियों ने सदर तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेसियों का कहना रहा कि पूर्ति निरीक्षक भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और कई वर्षों से जिले में तैनात हैं। इनके भ्रष्टाचार की पोल खोलने पर कांग्रेसी नेता के साथ अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी दी गयी। कांगे्रसियों ने पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर कानूनी कार्रवाई किये जाने की मांग की। 
तहसील दिवस में डीएम-एसपी को ज्ञापन सौंपते कांगे्रसी।
सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिले के कांग्रेसी पहुंचे और जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को सम्बोधित ज्ञापन सौंपकर पीड़ित कांग्रेसी नेता ओम प्रकाश गिहार ने बताया कि वह खागा सुरक्षित विधानसभा से दो से तीन बार विधायकी का चुनाव लड़ चुके हैं। दो बार जिला पंचायत सदस्य भी रहे। वर्तमान में उनकी पत्नी खैरई वार्ड से जिला पंचायत सदस्य हैं। उन्होने बताया कि तीन फरवरी 2020 को बारह बजे दिन में वह विकास खण्ड धाता के ग्राम सुदेशरा मजरे अंजना कबीर स्थित सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के सम्बन्ध में एक प्रार्थना पत्र एसडीएम खागा को दिया था। बताया कि पूर्ति निरीक्षक आशुतोष त्रिपाठी खागा में बैठते हैं और धाता व विजयीपुर ब्लाक की जिम्मेदारी उनके पास है। बताया कि सुदेशरा ग्राम की नई सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के बारे में बात करने वह ग्रामीणों के साथ गये थे। बताया कि सुदेशरा की दुकान अलादासपुर में अटैच है। जो लगभग तीन किलोमीटर दूर है। ग्राम में ही नई दुकान के बाबत बात करते हुए पूर्ति निरीक्षक श्री त्रिपाठी ने डांटते हुए भद्दी-भद्दी गालियां दीं और आफिस से निकल जाने के लिए कहा। इतना ही नहीं उन्होने जान से मारवाने की धमकी देते हुए खागा में न घुसने देने की धमकी भी दी। बताया कि पूर्ति निरीक्षक के भ्रष्टाचार के मामलों में कई शिकायतें उन्होने की हैं। इस कारण पूर्ति निरीक्षक उनसे रंजिश मानते हैं। बताया कि पूर्ति निरीक्षक जनपद कौशाम्बी के रहने वाले हैं। जो विगत तीन वर्ष से अधिक एक ही जगह पर कार्यरत हैं। कांग्रेसियों ने जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई किये जाने की मांग की। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य मो0 आरिफ गुड्डा, आदित्य श्रीवास्तव एडवोकेट, राज कुमार मौर्य एडवोकेट, बृजेश मिश्रा, आनन्द सिंह गौतम आदि मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages