Latest News

प्रत्यावेदन लेने के बाद ही करें कार्यवाही: मंत्री

कमेटी गठित कर तीन दिन के अंदर अतिक्रमण हटाने के डीएम ने दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । लोक निर्माण विभाग राज्य मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय तथा जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की उपस्थिति में परिक्रमा मार्ग से अतिक्रमण हटाए जाने के संबंध में बैठक साधु-संतों व स्थानीय लोगों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। 
राज्य मंत्री ने कहा कि शासन से स्पष्ट निर्देश हैं। जहां पर परिक्रमा पथ सकरा है वहां पर चैड़ा करने में सहयोग करें। प्रशासन विरुद्ध नहीं है, लेकिन शासन के निर्देशों के क्रम में कोई न कोई रास्ता निकाल कर कार्य किया जाएगा। खोही ग्राम में जो सरकारी जमीन हो उसमें लोगों को बसाया जाए, क्योंकि दूर बस जाने पर लोगों की रोजी-रोटी में व्यवधान होगा। उन्होंने उप जिलाधिकारी कर्वी तथा वन विभाग के अधिकारियों से कहा कि लोगों से प्रत्यावेदन ले। इसके बाद कार्यवाही की जाए। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने कहा कि उप जिलाधिकारी कर्वी, प्रभागीय वन अधिकारी, प्रमुख द्वार के महंत, ग्राम प्रधान खोही आदि को शामिल कर कमेटी
का गठन करें। तीन दिन के अंदर निर्णय लेकर कार्यवाही कराएं। कहा कि भगवान कामतानाथ की भव्यता को बनाने में सहयोग करें। अतिक्रमण को हटा ले। अन्यथा समिति के निर्णय के बाद प्रशासन तत्काल अतिक्रमण को हटाएगा। जलेबी वाली गली में सबसे सकरा रास्ता है। वहां पर स्वेच्छा से लोग जगह दें। कहा कि मंदिर व ट्रस्ट की जमीन कभी बेची नहीं जाती। जिन्होंने बेचा है वह गलत है। मठ मंदिरों पर किसी भी व्यक्ति का कब्जा नहीं होना चाहिए और मंदिर को व्यवसाय नहीं बनाना है। जिसमें लोग दुकान, मकान बनाकर रहते हैं। यह उचित नहीं है। साधु-संतों से कहा कि जिन मंदिरों में अवैध कब्जे हैं उसकी सूची दें। ताकि उन पर कार्यवाही कराई जा सके। जिन्हें नोटिस दी गई है वह तत्काल अतिक्रमण हटाएं। प्रमुख द्वार के महंत मदन गोपाल दास ने कहा कि जहां पर मठ, मंदिर की जमीने हैं उनके रखरखाव को देखा जाए। अगर प्रशासन को यह लगे कि अवैध लोग हैं तो उन्हें प्रशासन अपने कब्जे पर ले और कार्यवाही कराएं। बैठक में बड़े अखाड़ा खोही के महंत कल्याण दास, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चैधरी, प्रभागीय वन अधिकारी कैलाश प्रकाश, उप जिलाधिकारी कर्वी अश्विनी कुमार पाण्डेय, क्षेत्राधिकारी पुलिस रजनीश यादव आदि मौजूद रहे।

No comments