Latest News

दूसरे कोटेदार का चयन किए जाने की मांग

महेदू गांव के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को दिया शिकायती पत्र
पूर्ति निरीक्षक द्वारा सांठ गांठ कर कोटा बहाल करने का लगाया आरोप

बांदा, कृपाशंकर दुबे । पैलानी तहसील क्षेत्र के महेदू गांव में कोटेदार की मनमानी से तंग अकर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से शिकायत की। जिस पर जांच के बाद कोटा निलम्बित कर दिया गया। ग्रामीण अपना राशन दूसरे गांव के कोटेदार से लेने लगे। लेकिन बीच में फिर से पूर्ति निरीक्षक ने सांठ गांठ कर कोटा बहाल करवा दिया। जिससे ग्रामीणों को फिर से समस्या उत्पन्न हो रही है। ग्रामीणों ने मांग की है कि मामले की जांच कराकर गावं में नये कोटेदार का चयन खुली बैठक में किया जाये। जिससे ग्रामीणों को समय पर राशन आदि मिल सके।
जिलाधिकारी को ज्ञापन देने आए महेदू गांव के लोग
डीएम को दिये गये पत्र में महेदू गांव के ग्रामीणों ने बताया कि बीते सितम्बर माह में ग्रामीणों की शिकायत पर जांच के आदेश दिये गये थे। जांच के बाद जिला पूर्ति अधिकारी ने कोटेदार रामदास का कोटा निलम्बित कर दिया। ग्रामीणों को ग्राम छिरहुटा और बिछवाही से राशन सामग्री लेने के लिये अधिकृत किया गया। फरवरी माह तक ग्रामीणों ने बिछवाही गांव के कोटेदार से राशन सामग्री ली। लेकिन बीते 19 फरवरी को सफाई इंस्पेक्टर राजकुमार गुप्ता जांच करने आये। उन्होने गांव के कोटेदार रामदास के घर में बैठकर जांच पड़ताल की। ग्रामीणों से कोई जानकारी नही ली। जिसके बाद जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा सप्लाई इंस्पेक्टर की रिपोर्ट के बाद कोटा बहाल कर दिया गया। ग्रामीणों ने बताया कि अब फिर से उन्हे राशन सामाग्री लेने में दिक्कतों का सामना करना पडेगा। उन्होने मांग की है कि मामले की जांच कराई जाये। साथ ही गांव में खुली बैठक का आयोजन कर नये कोटेदार का चयन किया जाये। जिससे ग्रामीणों को राशन सामग्री समय से मिल सके। इस दौरान गांव के विशेश्वर पाल, भूरा प्रसाद, रामशरण, देवनारायण, नत्थू प्रसाद, गुलाब, सुरेश, देव सिंह, राम सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

No comments