Latest News

उरई-राठ निर्माणधीन हाइवे पर एक सप्ताह में आधा दर्जन लोगों की गई जानें

एक ओर से चलता है ट्रैफिक, नहीं लगे संकेतक

कुसमिलिया (जालौन), अजय मिश्रा । बीते एक सप्ताह के अंदर उरई-राठ मार्ग पर तेज रफ्तार ओवरलोड ने आधा दर्जन लोगांे की जान ले ली। इसके बाद भी तेज रफ्तार ट्रको पर प्रशासन शिकंजा नही कस रहा हैं। इन दिनों मुहाना से उरई के बीच हाइवे का निर्माण तो तेजी से किया जा रहा है लेकिन बीते कुछ दिनों से अटका पड़ा हाइवे का निर्माण हादसों की वजह बन रहा है। 24 फरवरी की शाम  डकोर  से कुसमिलिया जाते समय ट्रक और बाइक हादसे में 2 नवयुवकों की जान चली गई थी वह पूरी तरह से उस पीड़ित परिवार को जिंदगी भर का दर्द देने का सबब बनी तो वहीं जिसने भी उस हादसे के बारे में सुना अवाक रह गया। इस हाइवे पर निर्माण अधूरा रहने से ट्रैफिक एक ही ओर से आता जाता है और मुहम्मदाबाद गांव में एक ओर अंधा मोड़ और अधूरी बनी पुलिया किसी बड़ी घटना को संकेत दे रही हैं क्योंकि उस मोड़ पर कोई संकेतक भी नहीं लगे हैं वहीं जगह जगह
उरई-राठ निर्माणधीन हाइवे पर एक सप्ताह में आधा दर्जन लोगों की गई जानें
पर डायवर्सन भी अधूरे हैं।जिसके नतीजे में आये दिन हादसे हो रहे हैं। ग्रमीणों द्वारा बताया कि फोरलेन पर ओबर लोड ट्रक कब तेजी से सामने आ जाएगा यह पता नहीं होता और इसलिए हादसा हो जाता । फोरलेन अधूरा है इसलिए एक ही ओर से ट्रैफिक आते जाते हैं और थोड़ी ही चुक में  हादसा हो जाता है। कुल मिलाकर आये  दिन में कोई न कोई हादसा पेश आता है और निरीह लोगों की जान चली जाती है। लोगों का कहना है कि निर्माणाधीन  हाइवे पर रात के समय ओबर लोड ट्रक चालक नशे की हालत में ट्रक दौड़ाते हैं। हाइवे का निर्माण अभी पूरा नहीं किया गया है। कई जगह पर सड़क की लेवलिंग भी सही नहीं हैं। कई पुल व पुलिया भी अधूरी पड़ी हैं जिससे आए दिन यहां पर हादसे घटित हो रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि फोरलेन का अधूरा निर्माण और संकेतन तो कही हादसे की वजह नही हैं लापरवाही से बाहन चलाने से भी हादसे का शिकार होते हैं। 
संकेतक न लगे होने से दुर्घटनायें बढ़ी
ग्राम कुसमिलिया निवासी रोहित राजपूत राजपूत का कहना हैं ग्राम मुहम्मदाबाद कि मोड़ पर कोई संकेतक न होने की बजह से रात्रि के समय कभी भी बड़ा हादसा हो सकता।
ढाबों पर ट्रकों के खड़े होने से लगता जाम
ग्राम कुसमिलिया निवासी श्याम सिंह का कहना है कि दिन के समय ओवरलोड ट्रकों का ढाबा पर खड़ा होने से जाम जैसी स्थिति हो जाती है जिससे आने जाने वाले लोगों को परेशानी होती है उसकी वजह से आए दिन हादसे होते रहते हैं।

No comments