Latest News

वैचारिक और आध्यात्मिक क्रांति से जाग्रत होगा प्रेम: पंकज महाराज

सरसिया मैदान इंगुवामऊ में आयोजित हुआ सत्संग 

कमासिन, कृपाशंकर दुबे । वैचारिक और आध्यात्मिक क्रांति से लोगों में प्रेम जागृत होगा। ईश्वर में विश्वास आएगा। यह मानव अनमोल तन प्रभु प्राप्ति के लिए मिला है। और कलयुग में प्रभु प्राप्ति के लिए साधना सबसे सरल उपाय है। आध्यात्मिक विचारों के लिए शाकाहारी, सदाचारी, नशा मुक्त मानव का होना आवश्यक है। यह उद्गार बाबा जय गुरुदेव धर्म प्रचारक संस्था मथुरा के अध्यक्ष पंकज जी महाराज ने सरसिया मैदान इंगुवा मऊ में आयोजित सत्संग सभा में व्यक्त किए।
विगत 40 दिवसीय बुंदेलखंड जन जागरण अभियान के 32वें दिन बाबा जयगुरुदेव के उत्तराधिकारी पंकज जी महाराज ने आयोजित सत्संग के दौरान कहा कि आजीवन रूप सेकरोड़ों लोगों को शाकाहारी, सदाचारी बनकर भगवान के भजन में लीन हो जाना चाहिएअच्छे समाज के निर्माण व ईश्वर भक्ति के लिए आध्यात्मिक वैचारिक क्रांति का सूत्र पाठ किया गया है। इस वैचारिक आध्यात्मिक क्रांति से ईश्वर के प्रति मनुष्य का लगाव बढ़ेगा, इन्हीं
इंगुवामऊ में सत्संग को संबोधित करते पंकज महाराज 
जन जागरण कार्यक्रमों के माध्यम से भारत एक महान देश बन सकता है। उन्होंने कहा कि इसी प्रयोजन को लेकर जन जागरण अभियान के अंतर्गत गांव गांव सत्संग कार्यक्रम किए जा रहे हैं। पंकज महाराज ने कहा कि मानव जीवन में जाति बिरादरी धर्म मजहब लेकर कोई नहीं पैदा होता। बाद में कर्मों के आधार पर जाति बिरादर धर्म मजहब का सृजन होता है। मन चित् बुद्धि मानव को परमात्मा ने उपहार स्वरूप जो प्रदान किया है, हमें प्रभु की साधना में ज्यादा से ज्यादा समय गुजारना है। समय पूरा होने पर व्यक्ति के साथ कुछ भी साथ नहीं होता खाली हाथ आता है खाली हाथ ही चला जाता है। पंकज महाराज ने कहा कि उनके गुरु बाबा जयगुरुदेव जी का कहना था कि इंसानों को अपने दिमाग पर वापस आ जाना चाहिए। उस खुदा की इबादत करो, उस भगवान की पूजा करो जो हमें अपने गुनाहों की माफी दे सके। यह दुर्लभ मानव तन प्रभु की अद्भुत देन है हमें परमात्मा ने उपहार स्वरूप दिया है हमारा नैतिक कर्तव्य कि हम सद्कर्म कर परमात्मा को कर्ज स्वरूप वापस लौटा सके। शरीर एक साधना का मंदिर है जहां बुराइयां प्रसाद के रूप में चढ़ाई जाती हैं और अच्छाइयों के माध्यम से मनोकामनाएं पूर्ण की जाती है। मऊ इंगुवा गांव में आयोजित सत्संग दौरान पूर्व विधायक विशंभर सिंह यादव, जनार्दन यादव, रेवती रमण मिश्र, पिंटू सिंह, श्रीचंद, रामकिशोर, अखिलेश सिंह अध्यक्ष जिला संगत बांदा, ऋषि देव श्रीवास्तव जिला अध्यक्ष जौनपुर आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे इस दौरान सत्संग में मौजूद हजारों श्रद्धालुओं ने सत्संग का आनंद लेकर बाद में लंगर छका।

No comments