Latest News

शिव विवाह का प्रसंग सुन श्रोता हुये मंत्रमुग्ध

 शिकोहाबाद, विकास पालीवाल  ।  शिवा सुंदरकांड समिति के तत्वावधान  में रेलवे कलोनी के  मनोरंजन सदन में चल रही श्रीमद भागवत कथा सप्ताह ज्ञान यज्ञ में कथावाचक सीताराम  शरण  ने बुधवार को आज तीसरे दिन  शिव विवाह की कथा सुनायी। शिव विवाह प्रसंग सुन लोग झूम उठे। जहां पुरुष बराती बने वहीं महिलाओं ने मां पार्वती के परिजन बनकर नाच गाकर समूचे कथा मंडल को भावविभोर कर दिया। रामकथा में बोलते हुए कथावाचक सीताराम  मानस पीयूष  ने कथा में मौजूद भक्तजनों को बताया कि पूर्व जन्म में महाराजा दक्ष की
पुत्री के रूप में पार्वती ने जब यज्ञ में अपना शरीर समाप्त किया था, तो वह अगले जन्म में हिमाचल राजा के घर पर पुत्री रूप में जन्म लेती है। किशोरावस्था में जब नारदजी राजा हिमालय के महल पहुंचते है तो राजा हिमाचल अपनी बेटी का हाथ दिखाते है तब नारदजी बताते हैं कि उनका विवाह भगवान शिव से ही होगा। इस पर पार्वती भगवान शिव को प्राप्त करने के लिए कठोर तपस्या करने बैठ जाती है।  इस दौरान  रामप्रकाश गुप्ता,  राजेश गुप्ता,  नाहर सिंह भदोरिया, सुमन चौहान,  कंचन सिंह, अमरजीत, उदयवीर सिंह यादव, दीपक शुक्ला, राजबीर सविता, पीके आर्य, आरबी शुक्ला आदि उपस्थित रहे ।

No comments