Latest News

पंक्षियों का अजब गजब दंगल, मौदहा क्षेत्र मे होता है तीतर का दंगल

हमीरपुर, महेश अवस्थी । परिंदो का अजब गजब दंगल। अभी तक इंसानो और जानवरो की कुस्ती के बडे बडे दंगल देखे गये थे, लेकिन परिंदो की कुस्ती का दंगल पहलीबार देखने को मिला। बुन्देलखण्ड मे हमेशा से तीतरो का दंगल होता रहा है। जब बुन्देलखण्ड का किसान फसल की बुआई कर लेता है, तब खाली समय में मनोरंजन के लिए इस प्रकार के आयोजन किये जाते है। एैसा ही आयोजन मौदहा कस्बे में देखने को मिला जहां इलाके के
कुस्ती लडते तीतर
तमाम किसान अपने अपने तीतर लेकर पहुंचे थे जिनका जबदस्त दंगल होता है। जीतने वाले तीतर के मालिक को बकायता शील्ड और इनाम भी दिया जाता है। तीतर पालको का कहना है कि इस दंगल के लिए वह तीतरो की अच्छी खिलायी पिलायी करके तैयार करते है। तीतर पालक सुरेन्द्र का कहना है कि यह परम्परा वह अपने पिताजी के जमाने से देखते चले आ रहे है। जिसमें विजेता तीतर के मालिका को शील्ड और उपहार दिया जाता था। नर तीतर जब कुस्ती लड़ रहा होता है तब मादा तीतर पिंजरे के अंदर से आवाज देकर उसे कुस्ती जीतने के लिए उकसाती है। जो तीतर कुस्ती हार जाता है वह सिर झुका लेता है। हार जीत के निर्णय के लिए भले ही निर्णायक हो मगर यह पंक्षी अपना निर्णय खुद करते है। 

No comments