Latest News

मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा बच्चों का मौलिक अधिकार

हमीरपुर, महेश अवस्थी । शिक्षा का अधिकार ‘राइट टू एजूकेशन‘ अधिनियम 2009 दरअसल देश के 86वें संवैधानिक संशोधन अनुच्छेद 21(क) के तहत निःशुल्क और अनिवार्य शिक्षा के सार्वभौमिक अधिकार को सुनिश्चित करने का ही एक वैधानिक अधिकार है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण हमीरपुर के पीएलवी गणेश सिंह ने आज यहाँ स्थित ठड़ेश्वरी सरस्वती शिशु विद्या मंदिर पहुंचकर स्कूल के बच्चों को उक्त विधिक जानकारी दी। उन्होंने बच्चों को आगे बताया कि इस अधिनियम के अंतर्गत छह से 14 वर्ष तक की आयु के हर बच्चे को
बच्चो को जानकारी देते गणेश
प्राथमिक शिक्षा पूरी होने तक अपने घर के समीप स्थित स्कूल में मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार है। सरकारी मदद पाने वाले निजी स्कूलों को कमजोर वर्गों और पिछड़े तबके के 25 फीसदी बच्चों को प्रवेश देना होगा। जो यह नियम पालन नहीं करेगा उन्हें बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रकार यह अधिनियम मौलिक अधिकार के रूप में छह से 14 वर्ष तक के बच्चों को निःशुल्क और अनिवार्य शिक्षा देने का प्रावधान करता है। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य रणजीत सिंह भदौरिया, आचार्य मिथलेश द्विवेदी, आचार्य राम नारायण आदि शिक्षकों का इस आयोजन में सहयोग रहा।

No comments