Latest News

दैवीय आपदा से हुए नुकसान की समीक्षा की जांच समिति ने

उरई(जालौन), अजय मिश्रा । उत्तर प्रदेश विधान परिषद की दैवीय आपदा प्रबंधन जांच समिति अपने जनपद में एक दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम के अन्तर्गत कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जनपद के समस्त उपजिलाधिकारी, तहसीलदार एवं दैवीय आपदा प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर द्वारा उपस्थित विधान परिषद के सभापति रणविजय सिंह को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। इसके उपरान्त सभापति द्वारा दैवीय आपदा से होने वाली क्षति के बारे में जानकारी चाही जिस पर जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर द्वारा सम्पूर्ण जानकारी से सभापति को अवगत करा दिया गया। इसके उपरान्त सभापति द्वारा एक-एक करके समस्त उपजिलाधिकारियों से उनके तहसीलों में दैवीय आपदा से पीड़ित व्यक्तियों के संबंध में जानकारी की तथा उसकी क्षति की भरपाई हेतु किये गये कार्यो के बारे में जानकारी की जिस पर संबंधित उपजिलाधिकारी द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में दैवीय आपदा से पीड़ित व्यक्तियों की संख्या बताते हुये उन्हे दी जाने वाली सहायता राशि से भी अवगत कराया। जिस पर सभापति द्वारा संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि दैवीय आपदा
बैठक करते दैवीय आपदा प्रबंधन समिति के सभापति
से पीड़ित व्यक्तियों की सहायता धनराशि तत्काल उपलब्ध करायी जाये। उन्होने यह भी कहा कि कच्चे मकान की क्षतिग्रस्त होने पर उन्हे मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत मकान दिलाये जाये। उन्होने ओलावृष्टि से क्षतिग्रस्त किसानों को दी जाने वाली धनराशि के बारे में भी जानकारी की जिस पर बताया गया कि 7.90 करोड़ धनराशि शासन से अवमुक्त हो गयी है जिसको सभापति महोदय ने कहा कि इसे सभी तहसीलों के उपजिलाधिकारियों को उपलब्ध करा दी जाये जिससे संबंधित किसानों के खाते में समय से पहंुचा दी जाये। उन्होने आकाशीय विधुत, अग्निकांड, आंधी-तूफान, आदि से क्षतिग्रस्त होने के संबंध में चर्चा की। उन्होने फसल बीमा योजना के तहत किसानों को दी जाने वाली धनराशि के संबंध में जानकारी की जिस पर बताया गया कि फरवरी माह के अन्त में लाभार्थियो के खाते में धनराशि भेज दी जायेगी। उन्होने विधुत करेन्ट से मौतों के बारे में जानकारी की तथा उससे दी जाने वाली सहायता राशि की भी जानकारी की तथा कहा कि इस संबंध में जो स्थानीय स्तर पर सहायता दी जाये इसके अलावा विधुत सुरक्षा निदेशालय को सहायता राशि हेतु अवगत कराये जिससे विधुत सुरक्षा जांचोपरान्त धनराशि प्रेषित कर सके। बैठक में सभापति महोदय द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि सभी उपजिलाधिकारी दैवीय आपदा से दी जाने वाली धनराशि की सूची हर तीन महीने में उपलब्ध करायी जाये। उन्होने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से जनपद के समस्त चिकित्सालयों में उसमें दवाओं के पर्याप्त उपलब्धता के बारे में जानकारी की जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा दवाओं के पर्याप्त उपलब्धता बतायी तथा स्टाफ की कमी से भी अवगत कराया। उन्होने अधिशाषी अभियन्ता सिंचाई से भी सिंचाई के संबंध में जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया। उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी से स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत शौचालय निर्माण आदि के बारे में भी जानकारी दी जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया। बैठक में सभापति महोदय द्वारा दैवीय आपदा से क्षतिग्रस्त लोगो के सहायता राशि समय से उपलब्ध किये गये कार्यो की जिलाधिकारी की प्रशंसा की। बैठक में सभापति विधान परिषद हीरालाल यादव, मसदस्य विधान परिषद श्रीमती रमा निरंजन, जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर, अध्यक्षा जिला पंचायत श्रीमती सुमन देवी, मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अल्पना बरतारिया, समस्त उपजिलाधिकारी, समस्त तहसीलदार सहित संबंधित विभागों के विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments