Latest News

दस करोड के फर्जी ड्राॅफ्ट के मामले में दो लोग और भेजे जेल

दो लोग पहले ही गए जेल,  तीन आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर  

फ़िरोज़ाबाद, विकास पालीवाल   ।  दस करोड के फर्जी ड्राफ्ट के मामले में पुलिस ने शनिवार को  मुख्य आरोपी महिला सहित दो लोगों को जेल भेज दिया था। वही दो युवकों से पूछताछ जारी थी। जिन्हें पुलिस ने  को जेल भेज दिया।  पुलिस पिछले  तीन दिन से पीयूष शर्मा पुत्र बृजेश चंद्र निवासी इंदिरापुरम राजपुर चुंगी आगरा, नरेश दीक्षित पुत्र चंद्रपाल निवासी फाट नगर हसनपुर, पलवल हरियाणा आरोपियों से पूछताछ कर रही थी। इसी मामले में तीन दिन पूर्व विमलेश निवासी आगरा, हरिप्रसाद निवासी पलवल हरियाणा को पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है।  जसराना के लहसन करोबारी राहुल गुप्ता से लोन  दिलाने के नाम पर दस करोड का फर्जी ड्राफ्ट दिया था जिसे पंजाब बैंक बडा बाजार में चैक कराया तो वह फर्जी पाया गया। शाखा प्रबंधक ने राहुल गुप्ता व राकेश अग्रवाल निवासी लखीमपुर खीरी को पुलिस को सौंप दिया था। 
   
 पुलिस की जांच के बाद राहुल गुप्ता व राकेश अग्रवाल को एक सप्ताह पूर्व  परिजनों के हवाले कर दिया था। पुलिस की जांच के दौरान आगरा की विमलेश दीक्षित नाम की महिला का नाम सामने आया। पुलिस ने मुख्य आरोपी व उसके साथ पलवल हरियाणा से दो व एक युवक आगरा से गिरफ्तार किया था। पुलिस पिछले  तीन दिन से लगातार उनसे मामले में पूछतांछ कर रही थी। पुलिस को अभी भी दो लोगों की तलाश हैं। पुलिस ने शनिवार को मुख्य आरोपी महिला विमलेश व हरियाणा के पलवल के हरिप्रसाद का मेडिकल कराकर  धोखाधडी करने के मामले मे जेल भेज दिया था। जिसमें दो युवकों से पूछताछ जारी थी। जिसमें  पुलिस ने इन  दोनों  युवकों को जेल भेज दिया है । इस बारे में क्राईम इंसपेक्टर अरविंद कुमार ने बताया कि दोनों आरोपियों से पूछतांछ हो चुकी है। दोनो को धोखाधडी मे जेल भेजा गया है।  क्योंकि पीयूष शर्मा निवासी आगरा ने सुभाष की मुलाकात राहुल से कराई थी। जिसमें पीयूष का दो प्रतिशत कमीशन तय था। नरेश ने राकेश अग्रवाल से मुलाकात कराई।  अभी तक  4 लोग जेल जा चुके हैं। 

No comments