Latest News

स्वास्थ्य केन्द्रों में लगा मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला

सैकडों मरीजों को मिला लाभ

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । रविवार का दिन इस बार जनपद के लिए सेहत की दृष्टि से बेहद खास रहा। दूरदराज के इलाकों व मलिन बस्तियों में रहने वाले करीब तीन हजार से अधिक लोगों को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का लाभ मिला। मेले में जिले के एक शहरी स्वास्थ्य केंद्र समेत कुल 28 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर निःशुल्क जांच व इलाज की सुविधा दी गई। शहरी क्षेत्र में मेले का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि लोक निर्माण राज्य मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने किया। ग्रामीण क्षेत्रों में ब्लॉक प्रमुख व प्रतिनिधियों ने मेले का उद्घाटन किया। इस दौरान मौसमी बुखार की जांच के अलावा प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के साथ गर्भवती, बाल और किशोर स्वास्थ्य से जुड़ी जांच पर खास जोर रहा। 

शहर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कर्वी में मेले का शुभारंभ करते हुए लोक निर्माण राज्य मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने कहा कि इस आयोजन में स्वयंसेवी योगदान के लिए निजी क्षेत्र के चिकित्सकों को भी आगे आना चाहिए। प्रयास है कि मेले में वह सभी सुविधाएं एक ही जगह पर लोगों को मिले। जिसके लिए उन्हें अन्य दिनों में कई काउंटरों से होकर गुजरना पड़ता है। उन्होंने कहा कि मेले में आयुष्मान कार्ड, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना कार्ड व अन्य योजनाओं का लाभ सहित विभिन्न प्रकार की जांच एक ही जगह मिले ऐसा कदम सरकार ने उठाया है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ विनोद कुमार यादव ने बताया कि 27 ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और एक शहरी स्वास्थ्य केंद्र पर मार्च 2020 तक लगातार प्रत्येक रविवार को कुल 9 स्वास्थ्य मेले लगाए जाने हैं। मेले का आयोजन सुबह दस बजे से अपराह्न 2 बजे तक है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, नोडल अधिकारी संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य भवन लखनऊ के डॉ आरपी पांडेय, नोडल अफसर अपर सीएमओ डा इम्तियाज अहमद, अपर सीएमओ डॉ एबी कटियार, डॉ वीके सिन्हा, डा एनके कुरैचिया, डॉ आरके चैरिहा, डिप्टी सीएमओ डॉ धु्रव कुमार, डॉ मुकेश पहाड़ी, डॉ रफीक अंसारी, डॉ नरेंद्र देव् पटेल, डॉ एचसी अग्रवाल, डॉ जीके पांडेय, डीपीएम आरके करवरिया, संतोष कुमार, स्वास्थ्य कर्मचारी सहित पिरामल, ममता फाउंडेशन के प्रतिनिधि मौजूद रहे। मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले में आयुष्मान भारत योजना के स्टॉल लगा कर 400 से अधिक लोगों की स्क्रीनिग की गई। जबकि आधा सैकड़ा से अधिक गोल्डेन कार्ड भी बनाए गए। सीएमओ ने बताया कि प्रत्येक रविवारीय स्वास्थ्य मेले में प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को  कैंप पर गोल्डेन कार्ड की सुविधा प्रदान की जाए।


No comments