Latest News

होलिका दहन 9 मार्च रंगवाली होली10 मार्च

 होली का त्योहार भी बुराई पर अच्छाई के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन हिरण्यकश्यप की बहन होलिका जिसे अग्नि से न जलने का वरदान प्राप्त था वह भगवान विष्णु के परम भक्त प्रह्वाद को लेकर अग्नि में बैठ गई थी लेकिन प्रह्वाद को कुछ भी नही हुआ और स्वंय होलिका ही उस अग्नि में भस्म हो गई होलिका दहन के अगले दिन रंग खेले जाते हैं। जिसे रंगावली या घुलंडी के नाम से भी जाना जाता है।

भद्रा रहित, प्रदोष व्यापिनी पूर्णिमा तिथि, होलिका दहन के लिये उत्तम मानी जाती है। परन्तु भद्रा मुख में होलिका दहन कदाचित नहीं करना चाहिये

होलिका दहन तिथि - 9 मार्च सोमवार 

होलिका दहन मुहूर्त - सांय 6:22 से सांय 08:49
भद्रा 9 मार्च   - प्रात  9:37 से दिन 12:19 तक
पूर्णिमा तिथि आरंभ - 9 मार्च प्रात 3:03 बजे 
पूर्णिमा तिथि समाप्त -9 मार्च रात 11:17 बजे
रंगवाली होली - 10 मार्च मंगलवार

ज्योतिषाचार्य एस.एस. नागपाल, स्वास्तिक ज्योतिष केन्द्र, अलीगंज

No comments