Latest News

महिला आयोग की सदस्या ने सुने उत्पीड़न के 7 मामले

हमीरपुर, महेश अवस्थी । महिला आयोग की सदस्य डा. कंचन जायसवाल ने आज यहा कहा कि जनता में जागरूकता आयी है और उनके आपराधिक मामलो की सुनवायी भी होती है। इसलिए क्राइम बढा नजर आता है जबकि अभी तक जागरूकता की कमी और मामले दर्ज न होने से यह अपराध छिपे रहते थे। उन्होने कहा कि
महिलाओं की समस्यायें सुनती आयोग की सदस्या
विकास भवन में आज महिलाओं की समस्याओं को उन्होने सुना, सात मामले सामने आये जिसमंे पति और सास द्वारा उत्पीडन, भरण पोषण न देने के मामले शामिल है। स्थानीय निकाय में कार्यरत एक कर्मचारी द्वारा अपनी पत्नी का उत्पीडन का मामला सामने आया जिसमें उसके तीन बच्चे है और पति भरण पोषण की व्यवस्था नही करता। इस पर आयोग की सदस्या ने ईओ को निर्देश दिये थे। महिला को भरण पोषण की धनराशि दिलावें जरूरत पड़े तो मुकदमा भी लिखावें और महिला को कहीं कोई व्यवस्था हो तो काम भी दिलवा दें ताकि वे अपने बच्चो का भरण पोषण कर सकें। उन्होने कहा कि उन्हे हमीरपुर जिला आवंटित हुआ है। इसलिए वह यहा आकर महिला उत्पीडन के मामले की सुनवायी करंेगी। वे डेढ़ साल के कार्याकाल में पहली बार हमीरपुर आयी। 

No comments