Latest News

हिन्दू महासभा से मनाई वीर सावरकर की 54 वीं पुण्यतिथि

हिन्दू राष्ट्र की राजनीतिक विचारधारा को किया था विकसित- मनोज 

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारत हिन्दू महासभा ने बुधवार को आजादी के महानायक भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन में अहम भूमिका निभाने वाले प्रखर राष्ट्रवादी वीर सावरकर की 54 वीं पुण्यतिथि मनाई। उनके तैलीय चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गयी। गोष्ठी में उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए प्रदेश महामंत्री ने कहा कि हिन्दू राष्ट्र की राजनीतिक विचारधारा को विकसित करने का काम वीर सावरकर ने किया था। जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। 
वीर सावरकर की पुण्यतिथि पर चित्र पर माल्यार्पण करते महासभा के पदाधिकारी।  
आईटीआई रोड स्थित कैम्प कार्यालय में वीर सावरकर की पुण्यतिथि मनाई गयी। सर्वप्रथम हिन्दू महासभा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। तत्पश्चात कार्यालय में ही गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें वक्ताओं ने उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तार से रोशनी डाली। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री मनोज त्रिवेदी ने कहा कि वीर सावरकर ने राजनीति का हिन्दूकरण तथा हिन्दुओं का सैनिकीकरण का नारा देकर हिन्दू महासभा के निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष रहते हुए हिन्दू राष्ट्र की राजनीतिक विचारधारा को विकसित करने का काम किया था। उनके इस योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। जिलाध्यक्ष राम गोपाल शुक्ल ने कहा कि वीर सावरकर ने देश की आजादी के लिए अंडबार निकोबार की जेलों में अपने जीवन के 25 वर्ष बिताये हैं। गोष्ठी में मुख्य रूप से स्वामी राम आसरे आर्य, करन सिंह पटेल, अतुल दीक्षित, बाबू तिवारी, शिवाकांत तिवारी, संतोष नेता, स्वामी गया प्रसाद, प्रतिपाल सिंह, मोनिका गुप्ता, रंजना सिंह आदि मौजूद रहे। 

No comments