लोक अदालत में 2,208 वादों का कराया निस्तारण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, February 8, 2020

लोक अदालत में 2,208 वादों का कराया निस्तारण

18 वैवाहिक जोड़ों में कराया समझौता

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । शनिवार को जिला दीवानी न्यायालय में सम्पन्न हुई राष्ट्रीय लोक अदालत में 2,208 वादों का निस्तारण किया गया। जहां मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण द्वारा मामलों में पीड़ित याचीगण को 17,90,000 रुपये धनराशि क्षतिपूर्ति के रूप में दिलायी गयी। वहीं बैंकों के बकाया ऋण के 722 मामलों का निस्तारण करते हुए 9,15,09,000 रुपये धनराशि का समझौता कराया गया। इस प्रकार करीब 3,200 से अधिक वादकारी लाभान्वित हुए। आपराधिक प्रकरणों में विभिन्न मजिस्टेªट न्यायालयों ने 2,53,210 रुपये बतौर जुर्माना  धनराशि राजकीय कोष में जमा करायी गयी।
प्रातःकाल जिला जज अशोक कुमार सिंह ने फीता काटकर दीप प्रज्ज्वलन करते हुए इस राष्ट्रीय लोक अदालत का विधिवत् उद्घाटन किया। जिला जज श्री सिंह ने 14 मुकदमों का निस्तारण किया। मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण के न्यायाधीश अशोक कुमार ने 06 मुकदमों का निस्तारण किया। कुटुम्ब न्यायाधीश श्रीमती रीता गुप्ता के द्वारा 52 एवं अपर कुटुम्ब न्यायाधीश श्रीमती निशा सिंह ने 39 मुकदमांे का निस्तारण करते हुये 18 वैवाहिक जोड़ों के मध्य समझौता कराकर उन्हें एक साथ वैवाहिक जीवन-यापन करने हेतु रजामन्द किया गया। अपर जिला जज अमित पाल सिंह समेत समस्त अपर जिला न्यायाधीशों ने 157 मुकदमे निस्तारित किये।
   
लोक अदालत में वाद निस्तारण के बाद खड़े वैवाहिक जोड़े।
       मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट प्रशान्त कुमार ने 626 मामलों का निस्तारण करते हुए 1,29,100 रुपये अर्थदण्ड अभियुक्तों पर अधिरोपित कर जमा कराया। सिविल जज (सीडि) विवेक कुमार सिंह ने 5 मुकदमों का निस्तारण किया। सिविल जज (जूडि) अर्नवराज चक्रवर्ती समेत सभी न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा 258 मुकदमों का निस्तारण करते हुये 62,610 रुपये अर्थदण्ड अधिरोपित किया गया। जनपद के विभिन्न बैंकों यथा इलाहाबाद बैंक, स्टेट बैंक आफ इण्डिया, आर्यावर्त बैंक, सेन्ट्रल बैंक आॅफ इण्डिया, पंजाब नेशनल बैंक आदि के बकाया ऋण के कुल 722 मामलों में 9,15,09,000 रुपये धनराशि का सुलह-समझौता कराया गया। टेलीफोन बकाया बिल के भी आधा दर्जन मामले सुलह-समझौता से निस्तारित हुये। इसके अतिरिक्त जनपद के सभी उप जिला मजिस्टेªट और तहसीलदार न्यायालयों द्वारा राजस्व संहिता और फौजदारी के 324 मामले निस्तारित किये गये। लोक अदालत में अपर जिला न्यायाधीश उमेश प्रकाश, अनिल कुमार यादव, सुरेशचन्द्र, प्रकाश तिवारी, श्री विजय बहादुर, गुलाम मुस्तफा, सिविल जज जूडि दानवीर सिंह, संदीप सिंह, स्पेशल जेएम राजा सिंह यादव, ज्ञानप्रकाश, सुश्री रागिनी मिश्रा, श्वेता यादव, नेहा राजन, श्री सुभाश सहित विभिन्न बैंकों, विभागों के वरिष्ठ अधिकारी और जिला बार संघ के अध्यक्ष नरसिंह दास गुप्ता एवं सचिव सुधीर कुमार मिश्रा समेत विद्वान अधिवक्तागण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages