Latest News

दुष्कर्मी को सात साल की सजा, जुर्माना 15 हजार रूपया

हमीरपुर, महेश अवस्थी । साढ़े तीन साल पहले बिवांर थानाक्षेत्र के एक गांव में आठ वर्षीय बालिका के साथ छेड़खानी करने के मामले में अदालत ने अभियुक्त पर दोष सिद्ध किया। विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट कोर्ट प्रथम शमशुल हक ने अभियुक्त पर सात वर्ष की सजा व 15 हजार रुपये अर्थदंड लगाया। विशेष लोक अभियोजन रुद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बिवांर थानाक्षेत्र के एक गांव में वादी अपने साढू की आठ वर्षीय मासूम
पुत्री को गोद लिए था। 13 मई 2017 को दोपहर एक बजे वादी की पुत्री दुकान से घर आ रही थी। तभी वादी के मकान के पीछे निवास कर रहे अभियुक्त देवीदीन पुत्र लल्लू यादव पुत्री को बहला फुसलाकर घर ले गया। जहां अभियुक्त ने मासूम के साथ दुष्कर्म की कोशिश की। अभियुक्त ने मासूम को शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी दी। मासूम ने घर आकर अपनी मौसी व मौसा को घटना की जानकारी दी। मासूम के मौसा (वादी) ने थाने में अभियुक्त देवीदीन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। मामले की सुनवाई के बाद शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट कोर्ट प्रथम शमशुल हक ने अभियुक्त देवीदीन को सात वर्ष की सजा सुनाते हुए 15 हजार रुपये अर्थदंड लगाया। अदालत ने अर्थदंड की रकम पीड़िता को दिए जाने के आदेश दिए।

No comments