Latest News

दवाओं और उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करें: अपर निदेशक

एडी की अध्यक्षता में हुई सपोर्टिव सुपरविजन की बैठक    

बांदा, कृपाशंकर दुबे । सभी अधिकारी स्वास्थ्य इकाइयों और समुदाय में भ्रमण के दौरान निर्धारित चेकलिस्ट के अनुसार सुविधाओं की दुरुस्तता सुनिश्चित करें। स्वास्थ्य इकाइयों पर पर्याप्त में दवाइयों के साथ-साथ जांच के लिए आवश्यक उपकरण और आईईसी सामग्री की उपलब्धता आश्वस्त करें। पहले की कमियों को दूर करने का आंकलन करने के बाद ही रिपोर्ट दें। इसके अलावा 2 फरवरी से हरेक रविवार पीएचसी पर लगने वाले आरोग्य मेले की तैयारी का माइक्रोप्लान बनाकर गोल्डन कार्ड अभियान की गति बनाए रखें। अपर निदेशक डा.राकेश रमन ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी सभागार में आयोजित आरएमएनसीएच की मंडलीय बैठक में दिए। उन्होंने
बैठक को संबोधित करते अपर निदेशक
कहा कि स्वाथ्य सेवाओं की निगरानी में कोई लापरवाही न बरतें। भ्रमण के दौरान मिली कमियों को दूर करने की कार्ययोजना बनाकर जल्द से जल्द उनमें सुधार करें। बैठक में प्रजनन, मातृ-नवजात, बाल एवं किशोर स्वास्थ्य यानि आरएमएनसीएच के तहत स्वास्थ्य इकाई व समुदाय स्तर पर दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं को सपोर्टिव सुपरविजन के जरिये बेहतर करने को लेकर चर्चा की गई। मंडलीय मॉनिटरिंग एंड इवैल्यूएशन आफीसर धनेंद्र राज बागरी ने बताया कि पोर्टल के अनुसार लक्ष्य के सापेक्ष अधिकारियों द्वारा सबसे ज्यादा 34.5 प्रतिशत विजिट की गई है। जबकि चित्रकूट में 25 प्रतिशत, हमीरपुर में 5 प्रतिशत और महोबा में 9 प्रतिशत विजिट की गई है। चित्रकूट डीपीएम आरके करवरिया ने बताया कि स्वास्थ्य सुविधाओं की निगरानी और कमियों को दूर करने का प्रयास करते हैं। बैठक में मंडलीय कार्यक्रम प्रबंधक अलोक कुमार, सिफ्प्सा के मंडलीय लेखा प्रबंधक महेंद्र कुमार तिवारी समेत सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारीए, आरओ, डीपीएम, डीसीपीएम और डीआईओ आदि शामिल रहे। 

No comments