Latest News

रजत जयन्ती समारोह में भाग लेने जिले से जायेंगे परिषद के पदाधिकारी

पांच जनवरी को कानपुर में होगा कार्यक्रम, डिप्टी सीएम होंगे मुख्य अतिथि

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के गठन के 25 वर्ष पूर्ण होने पर कानपुर महानगर में रजत जयन्ती समारोह धूमधाम से आगामी पांच जनवरी को मनाया जायेगा। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य शिरकत करेंगे। समारोह को ऐतिहासिक बनाने के लिए जिले से बड़ी संख्या में परिषद के पदाधिकारी कानपुर जायेंगे। यह निर्णय अखिल भारतीय युवा वैश्य एकता परिषद की बैठक में पदाधिकारियों ने लिया। 
बैठक करते युवा वैश्य एकता परिषद के पदाधिकारी।
अखिल भारतीय युवा वैश्य एकता परिषद की बैठक कैम्प कार्यालय पीलू तले चैराहे पर युवा जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र शरन सिम्पल की अध्यक्षता में आयोजित हुयी। बैठक को सम्बोधित करते हुए श्री सिम्पल ने कहा कि परिषद के गठन को पांच जनवरी को पच्चीस वर्ष पूर्ण हो रहे हैं। परिषद द्वारा नागपुर में राष्ट्रीय कार्य समिति की बैठक में रजत जयन्ती समारोह मनाये जाने का निर्णय लिया गया था। उक्त निर्णय के अनुसार पांच जनवरी को कानपुर से रजत जयन्ती समारोह का आगाज होगा। जिसमें जनपद से काफी संख्या में पदाधिकारियों की सहभागिता होगी। मुख्य अतिथि राष्ट्रीय महासचिव विनोद कुमार गुप्त ने कहा कि रजत जयन्ती समारोह के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष डा0 सुमन्त गुप्त व राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रदेश के सभी जनपदों में दौरे करके कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट कर रहे हैं कि उन सभी के अथक परिश्रम व सहयोग से संगठन ने अपने पच्चीस वर्ष पूर्ण किये हैं। इस विशेष वर्ष को रजत जयन्ती वर्ष मनाने के लिए पांच जनवरी को कानपुर के मर्चेण्ट चेम्बर सभागार से होगा। प्रदेश उपाध्यक्ष नरेन्द्र गुप्त ने कहा कि कानपुर में आयोजित समारोह में प्रदेश सरकार के कई मंत्री व विधायकों का सानिध्य प्राप्त होगा। उन्होने कहा कि परिषद के संरक्षक व प्रदेश सरकार के पूर्व न्याय मंत्री राधेश्याम गुप्त व प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, राजेन्द्र जायसवाल, विधायक विकास गुप्ता, महेश गुप्त भी उपस्थित रहेंगे। नगर अध्यक्ष संतोष गुप्त ने कहा कि उनका प्रयास होगा कि नगर क्षेत्र से काफी संख्या में वैश्य समाज की सहभागिता हो। बैठक में वेद प्रकाश गुप्त, अरूण जायसवाल, राधेश्याम हयारण, संजीव गुप्त, अमित शरन बाबी, विनय शरन, संजय गुप्त, रामस्वरूप गुप्त, आशीष अग्रहरि, मनोज सोनी आदि मौजूद रहे। 

No comments