Latest News

केवीके व आरसीटी मिलकर करेंगे किसानों का आर्थिक उत्थान: डाॅ सोनकर

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कृषि विज्ञान केन्द्र कुरारा में ग्रामीण रोजगार प्रशिक्षण संस्थान के निदेशक व 24 किसानों के दल ने पहुंचकर केन्द्र परिसर कर भ्रमण कर माॅडल देखे, उन्हें प्रशिक्षण भी दिया गया। केन्द्र के अध्यक्ष मु0 मुस्तफा ने किसानों ने कहा कि कृषि तकनीकी जानकारी का एक मात्र श्रोत जिले में केवीके है। अधिक से अधिक कृषि तकनीकी लेकर खेतीबाड़ी को सुधार कर सकते हैं। केन्द्र के वैज्ञानिक डाॅ एसपी सोनकर ने नवीनतम व सफलतम कृषि प्रसार तकनीक पर बल देते हुये कहा कि किसान साथी खेती के साथ पशुपालन के खेती के साथ बागवानी और बागवानी में अंतः फसल बीज उत्पादन, मत्स्य पालन, मुर्गी पालन करके अपनी

आमदनी को दोगुना करके आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सकते हैं। डाॅ फूल कुमारी ने पोषण वाटिका के बारे में बताया कि अगर किसान अपने परिवार को सब्जी खिलाना चाहते हैं तो पोषण वाटिका को अपना कर गुणवत्तायुक्त सब्जी का उत्पादन कर स्वस्थ्य परिवार कर सकते हैं। डाॅ शालिनी ने कहा कि शस्य की 250 प्रजातियां विभिन्न फसलों की यहां लगी है। किसान साथी नये-नये बीज बोकर उत्पादन अधिक से अधिक ले सकते हैं। उन्होंने तकनीकी फसलों के प्रदर्शन को सजीव रूप से दिखाया। आरसीटी के निदेशक अखिलेश श्रीवास्तव ने कहा कि केवीके और आरपीटी मिलकर किसानों के विकास के लिये कार्य करेंगे तो किसानों का निश्चित ही उत्थान होगा। उन्होंने कहा कि केवीके को आर्थिक सहयोग के लिये हमारा संस्थान तत्पर है। योगेश कुमार, वन्या पाण्डेय, विनीता अग्रवाल ने भी किसानों ने विचार साझा किये। कौशल, मनोज, प्रमोद, भूरी, राजबहादुर, बलवीर सहित दो दर्जन किसान ने तकनीकी प्रदर्शनों को देखा।

No comments