आधा दर्जन लोगों ने किसान को पीटकर मार डाला - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, January 13, 2020

आधा दर्जन लोगों ने किसान को पीटकर मार डाला

परिजनों ने लगाया जिन्दा जलाकर मारने का आरोप 
जिला अस्पताल में उपचार के दौरान किसान ने तोड़ा दम 
एसओ बोले: आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करेंगे गिरफ्तार 
बदौसा थाने के ग्राम पौहार के मजरा जमुनिहा पुरवा में हुई घटना 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । बदौसा थाना क्षेत्र के पौहार गांव के मजरा जमुनिहा पुरवा में ट्यूबवेल में अलाव ताप रहे एक वृद्ध को आधा दर्जन लोगों ने रंजिश के तहत घेर लिया और तमंचे तथा बंदूक की बटों व डंडों से वार कर से लहूलुहान कर दिया। हमलावर मरा समझकर मौके से भाग निकले। मौके पर पहुुंचे घरवालों ने किसान को उठाकर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। वहां से हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। ट्रामा सेंटर में उपचार के दौरान किसान की मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के
मच्र्युरी हाउस में मौजूद मृतक के परिजन
बाद पोस्टमार्टम कराया है। मृतक के भाई और पुत्र ने मारपीट के बाद आग लगाने का आरोप लगाया है। 
पौहार गांव के मजरा जमुनिहा पुरवा निवासी उमादत्त यादव (45) पुत्र चुनबाद यादव बटाई में खेती लेकर किसानी का मा करता था। रविवार की शाम को खेतों से काम निपटाने के बाद उमादत्त पास में ही रहने वाले सभाजीत नामक युवक के ट्यूबवेल में बैठकर अलाव ताप रहा था। इसी बीच आधा दर्जन लोग वहां पहुंच गए और उमादत्त को गाली-गलौज करने लगे। विरोध करने पर सभी लोगोें ने उमादत्त को तमंचा और बंदूक की बटों
इसी जगह पर किसान के साथ हुई मारपीट 
तथा लाठी-डंडों से मारना पीटना शुरू कर दिया। लहूलुहान हालत में मरा समझकर हमलावर मौके से भाग निकले। खबर पाकर मौके पर पहुंचे परिजनों ने आनन-फानन में उमादत्त को स्वास्थ्य केंद्र बदौसा में भर्ती कराया, वहां से हालत गंभीर होने पर प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने उमादत्त को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। वहां ट्रामा सेंटर में उपचार के दौरान उमादत्त की मौत हो गई। किसान की मौत हो जाने से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मर्च्युरी हाउस में मृतक के बेटे रामभजन और छोटे भाई दयाराम ने बताया कि आधा दर्जन लोगों ने मारपीट करने के बाद अलाव से आग लगाकर जला दिया, जिससे किसान की मौत हो गई। बताया कि हमलावरों में से कुछ लोग गांजा बेचने का काम करते हैं। छह महीने पूर्व पुलिस टीम ने छापा मार कार्रवाई की थी। हमलावरों को इस बात का शक था कि मृतक किसान ने मुखबिरी की है। इसी के चलते रंजिश मानने लगे थे। बदौसा थाना प्रभारी ने कहा कि तहरीर मिल गई है, मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। इधर, थाना प्रभारी नरेश प्रजापति का कहना है कि उमादत्त के साथ मारपीट हुई है। मारपीट के दौरान उमादत्त जलते हुए जलाव में गिर जाने के कारण झुलस गया। थाना प्रभारी का कहना है कि मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा। 

कार्यभार संभालते ही एसपी को दबंगों की सलामी 

बांदा। नए पुलिस कप्तान सिद्धार्थ शंकर मीणा ने रविवार को ही कार्यभार ग्रहण किया था। उनके कार्यभार ग्रहण करने के कुछ घंटों के बाद ही बेखौफ अपराधियों ने मर्डर कर दिया। एक तरह से अपराधियों ने पुलिस अधीक्षक
जमुनिहा पुरवा में मृतक परिजनों से बात करते एएसपी एलबीके पाल 
को सलामी दी है। कुल मिलाकर कहने का मतलब यह है कि जनपद में कानून व्यवस्था चाहे जितनी सख्त कर दी जाए, लेकिन अपराधी वारदातों को अंजाम देने से बाज नहीं आते हैं। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages