Latest News

पाकिस्तान को ख़ुफ़िया जानकारी पहुँचाने वाला एजेंट गिरफ्तार

पड़ाव चन्दौली, मोतीलाल गुप्ता। भारतीय सेना से जुड़ी जानकारी पाकिस्तान के आईंएसआई को पहुंचाने में गिरफ्तार हुए युवक रशीद अहमद मुग़लसराय कोतवाली के चौराहट गांव अपने नाना जब्बार के यहां अपनी मां शहजादी के साथ रहता है राशिद 23 वर्ष दो बार पाकिस्तान अपनी मौसी हँसीना की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए माँ और नाना के साथ पाकिस्तान जा चुका है।  पहली बार वह अगस्त 2017 में पाकिस्तान गया था‚ उस दौरान वह एक महीने तक वहां रहा था‚  दूसरी बार दिसंबर 2018  में मौसी की बेटी की शादी में शामिल होने पाकिस्तान गया था और उस दौरान एक माह 25 दिन रहा था। राशिद ग्लोसाईन बोर्ड बनाने का काम
वाराणसी के नौरंगाबाद किसी दानिश के लिए काम करता था. राशिद दानिश के कहने पर ही कानपुर , इलाहाबाद और लखनऊ तक जा चुका है। दरअसल राशिद ने नाना जब्बार मूल रूप से वाराणसी के प्रह्ललाद घाट क्षेत्र के रहने वाले है. बीस वर्ष पूर्व वह चौरहट में आकर बसे थे. उनके दो और पांच बेटियां है. बेटे शमशीर और आलमगीर यही  चौरहट में रहते है. वहीं सबसे बड़ी बेटी हसीना पाकिस्तान के करांची में अपने परिवार के साथ रहती है. दूसरे नंबर की बेटी शहजादी पति से तलाक के बाद बेटे रशीद के साथ यहीं रह रही है. घटना के बाद से पूरा परिवार सदमे में है. परिवार वालो ने बताया कि कभी कभी पाकिस्तान से उसकी मौसी का फ़ोन आता था और वहीं उससे बात करता था.


इस तरह की चर्चा है कि पाकिस्तान के आईएसआई हैंडलर ने उससे दो भारतीय सिम मंगवाए थे. बाद में उसपर वाट्सएप्प एक्टिव हुआ.वहीं सेना से जुड़ी जानकारी भेज रहा था. पाकिस्तान की सेना वाट्सअप से ही अपना एजेंडा चला रही थी.इसके अलावा यूपी के तमाम धार्मिक स्थलों और सेना से जानकारी भेजता था। पूरी  कहानी जब्बार अहमद पेसे से दर्जी हैं राशिद के नाना के अनुसार देश के आजादी के समय मेरे दो भाई और बहन अबुल हसन सत्तार हसन नूरजहां शाहजहां पाकिस्तान चले गए अब वहीं पर रहते हैं बड़े भाई अबुल हसन के पुत्र
सागीर से अपनी पुत्री हसीना का शादी कर दिया जहां पर आना जाना लगा रहता है अभी हाल ही में 2017 और  2018 मैं शादी के दौरान गए थे जिसमें राशिद महीनों तक रहा  जब 16 जनवरी को शाम 4:00 बजे लगभग घर से निकला था राशिद देर रात तक घर नहीं पहुंचा तो हम और हमारे घर वाले उसको खोजने लगे दूसरे दिन पुलिस चौकी पर  लापता की सूचना दिए तो पुलिस ने बताया कि राशिद पुलिस के गिरफ्त में है उससे पूछताछ हो रही है तब से लेकर आज तक राशीद से हम लोगों की कोई मुलाकात और बातचीत नहीं हो पाई है वर्तमान में शाहिद की मां अजमेर में थी बाबा के यहां वहां पर सूचना देकर बुलवाया गया
राशिद की मां शहजादी के अनुसार पहली शादी चित्तू को लंका वाराणसी इदरीश के साथ हुआ था जो 23 वर्ष पूर्व तलाक हो गया उस दौरान राशिद 3 माह का था उसके पश्चात 7 वर्ष बाद लोहता वाराणसी निवासी सुल्तान के साथ दूसरा शादी हुआ जो कुछ वर्ष बाय मृत्यु हो गई अब शहजादी अपने पिता जब्बार हसन के साथ  चौरहट में रहती  आगे बताया कि पहले पति इदरीश के यहां राशिद का आना जाना लगा रहता है जो इदरीश के बड़े भाई  चित्तूपुर लंका वाराणसी सलीम आर्मी में थे जो अब रिटायर हो गए हैं  

No comments