फोटोकापी मशीन को लेकर नगर पालिका में हंगामा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Advt.

Advt.

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, January 7, 2020

फोटोकापी मशीन को लेकर नगर पालिका में हंगामा

बाहर की मशीन लाकर गोपनीय दस्तावेजों की फोटोकापी किए जाने का आरोप 
अधिशाषी अधिकारी बोले: उन्होंने नहीं दिया मशीन मंगवाने का कोई आदेश  

बांदा, कृपाशंकर दुबे । मंगलवार को नगर पालिका में उस समय हड़कंप मच गया जब बाहर से प्राइवेट फोटोकापी मशीन पालिका ले जाकर दस्तावेजों की फोटोकापी कराए जाने के ममामले पर जमकर हंगामा हुआ। नगर पालिका में बाहरी फोटो कापी मशीन किसके द्वारा लाई गई और किसके आदेश से लाई गई तथा कौन से दस्तावेज फोटोकापी हो रहे थे, इस प्रकरण की जानकारी के लिए जब मीडिया नगर पालिका परिसर पहुंचा तो वहां पर मौजूद नगर पालिका ठेकेदार अनुराग गुप्ता ने बताया कि उन्होंने नगर पालिकाध्यक्ष के द्वारा किए गए
बाहर से लाई गई फोटो कापी मशीन को पालिका के अंदर ले जाते नगर पालिका कर्मचारी 
भ्रष्टाचार के संबंध में आरटीआई से कुछ जानकारियां मांगी थीं। लेकिन 28 दिन गुजर जाने के बाद जब हमें आरटीआई में सूचनाएं नहीं मिलीं तो हम लोग नगर पालिका के बराबर चक्कर काट रहे थे। तब नगर पालिका ईओ के मौखिक निर्देशानुसार यह मशीन किराए की मंगाकर उन दस्तावेजों की फोटोकापी कराई जा रही थी। लेकिन नगर पालिका अध्यक्ष मोहन साहू के द्वारा फोन से मना करने के बाद फोटोकापी नहीं कराई गई। इधर, पालिका पहुंचे अध्यक्ष श्री साहू ने मशीन वहां देखी उन्होंने तत्काल नगर पालिका परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले तो भवन कर संबंधित रजिस्टरों से लगभग चार-पांच सौ फोटोकापियां की जा चुकी थी, जिसके पेज वहीं पर मौजूद थे। यह देखते ही पालिकाध्यक्ष का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया और उन्होंने नगर पालिका कर्मचारियों को जमकर लताड़ लगाई। साथ ही मीडिया को बताया कि उनके खिलाफ यह कोई साजिश है, जिसमें कुछ सभासद भी शामिल हो सकते हैं। इस प्रकरण की जांच कराई जाएगी और दोषियों के खिलाफ

पालिका में फोटोकापी किए गए दस्तावेज दिखाते चेयमरैन मोहन साहू 
मुकदमा लिखाया जाएगा। पालिकाध्यक्ष ने किराए से लाई गई फोटोकापी को नगर पालिका के एक कमरे में रखवा दिया और उच्चाधिकारियों को इस प्रकरण की जानकारी दी। अब जांच के बाद कौन-कौन दोषी है, उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की बात नगर पालिकाध्यक्ष मोहन साहू कर रहे हैं। इस संबंध में जब मीडिया ने नगर पालिका अधिशाषी अभियंता संतोष कुमार से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि उनके द्वारा किसी भी तरह से बाहर से किराए की फोटोकापी मशीन लाने का आदेश निर्देश नहीं दिया गया है। यह जरूर है कि जिन लोगों ने आरटीआई के माध्यम से कुछ सूचनाएं मांगी थी और उनका समय पूरा हो रहा था तो उन्होंने विभाग के जिम्मेदार कर्मचारियों को यह निर्देश जरूर थे कि इनका कार्य समय से किया जाए।
इस पूरे मामले से नगर पालिका परिसर में कई घंटे तक हंगामा होता रहा। अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही। सारी फोटोकापी और फोटो कापी मशीन नगर पालिकाध्यक्ष मोहन साहू ने अपने कब्जे में कर लिए हैं। सीसीटीवी फुटेज में उन्होंने मीडिया कर्मियों को दिखाया कि किस तरह से उनके ही कर्मचारी और कुछ सभासद उस मशीन को उठाकर अंदर ला रहे हैं। पालिकाध्यक्ष का कहना है कि उन्हें किसी बड़ी साजिश की आशंका है। पूरे प्रकरण की जांच कराकर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages