Latest News

सवा सौ साल पुराना नहर पुल ठेकेदार की लापरवाही से हुआ क्षतिग्रस्त

कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा , एसडीएम ने किया स्थलीय निरीक्षण 

शिकोहाबाद  ( फ़िरोज़ाबाद ) ।  स्टेशन रोड स्थित भोगनीपुर नहर पर लगभग सवा सौ साल पुराना पुल  पीडब्लूडी  विभाग और नए पुल का निर्माण कार्य कराने  वाले  ठेकेदार की लापरवाही की भेंट चढ़ गया। बीती बुधवार - गुरुवार देर  रात नहर पुल की एक साइड की मिट्टी धंस गई, जिससे वर्षों पुराने पुल की एक तरफ की सपोर्ट दीवार और उसके सहारे खड़ा पीपल का पेड़ जमींदोज हो गया । कई दिनों से पुल के नीचे जमीन में पानी भरने से सड़क के भी धंसने की आशंका बढ़ गयी है। सूचना पर पहुंची एसडीएम  और सीओ ने एहतियात के तौर पर भारी वाहनों के निकलने पर रोक लगा दी है। साथ ही सिंचाई विभाग के अभियंता भी आ गए ।  
     
क्षतिग्रस्त नहर पुल, जिसकी मिट्टी धस गई ।
  शिकोहाबाद - बटेश्वर मार्ग को जोड़ने के लिए स्टेशन रोड पर नहर पुल बना हुआ है। संकरा होने के कारण यहां आए दिन जाम लग जाता था। जिससे निजात पाने के लिए स्थानीय जनता ने पुल के चौड़ीकरण की मांग की थी ।  नया पुल पीडब्लूडी विभाग द्वारा बनाया जा रहा है। पुल निर्माण के शुभारंभ से लेकर आज  तक ठेकेदार अपनी मनमानी और लापरवाही करता आ रहा है। जिसके कारण अब लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक सप्ताह पूर्व स्थानीय लोगों ने नहर पुल के अंदर पानी भरने और जमीन नीचे पोली होने का अंदेशा किया था। एसडीएम ने साइड में बोरियों में मिट्टी भरने के निर्देश दिये थे। लेकिन ठेकेदार ने कोई कार्यवाही नहीं
जानकारी होने पर पहुंची एसडीएम  ।
की। जिसकी बजह से गुरुवार अल सुबह स्वामी नगर को जाने वाले मार्ग की तरफ सड़क की मिट्टी धंस गई, जिससे पुल की सपोर्ट के लिए बना ईटों का एक हिस्सा भी ढह गया और वहां खड़ा  पीपल का पेड भी गिर गया। इसके सहारे खड़े विद्युत पोल भी गिर पड़े और विद्युत केबिल पर टिक गए। जिससे पूरे दिन शिकोहाबाद में  आधे शहर में लाइट नहीं आई। नहर पुल के क्षतिग्रस्त होने की  जानकारी होने पर एसडीएम एकता सिंह मौके पर पहुंची , साथ ही एसडीएम ने  सीओ इन्दु प्रभा सिंह को भी बुला लिया।  उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए एक्सईएन नहर विभाग और अधिशाषी अभियंता पीडब्लूडी को बुला कर तत्काल प्रभाव से मरम्मत कार्य कराने के निर्देश दिए। 
       
      

No comments